अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश मा कंधा ट्यूमर जटिल सर्जरी सफल

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश अस्थिरोग विभाग क चिकित्सकू न एक जनानी क कंधे क ट्यूमर की जटिल सर्जरी कन मा सफलता मिली। सर्जरी बाद जनानी कृत्रिम कंधे क जोड़ प्रत्यारोपित करे ग्यायी। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत न यी सफलता खातिर चिकित्सकीय दल तै शुभकामना द्य्यायी। निदेशक एम्स प्रोफेसर रवि कांत न बतायी कि संस्थान मा हड्डी की जटिलतम शल्य क्रिया सफलता पूर्वक करयाणा च जैसे उत्तराखंड अर आसपास क प्रांतों क मरीजू तै इलाज बाबत होर अस्पतालों मा नि भटकण पड़ल। उत्तरकाशी रैवासी 24 वर्षीय जनानी करीब एक साल बटी कंधे क दर्द अर सूजन से पीड़ित छ्यायी। परीक्षण बाद जनानी  कंधा मा 25 सेंटीमीटर गोलाई ट्यूमर पये ग्यायी। ट्यूमर क आसपास की नस भी चिपकी छेयी। जै कारण अक्सर हत्थ कटण की स्थिति बणी जांद, मगर जनानी क हत्थ तै कटण बजाए ट्यूमर समेत कंधा की हड्डी तै निकाळी लिये ग्यायी वेकी जगह रिवर्स सोल्डर कंधा क आर्टिफिशियल जोड़ क सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण करे ग्यायी। 

Loading...


निदेशक एम्स पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत न बतायी की देश क मेडिकल संस्थानू मा इन प्रकार क त ऑपरेशन कम ही हुया छन। उन बतायी कि इन प्रकार की सर्जरी मा पुरण किस्म क कृत्रित जोड़ डळण  पर हत्थ मा मूवमेंट आण की संभावना नि रै करदी, मगर आधुनिक जोड़ से मूवमेंट की पूरी संभावना च। एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत न बतायी कि संस्थान क आर्थोपैडिक विभाग मा आधुनिक पद्धति क दगड़ी ट्यूमर क क्षेत्र मा काफी जटिल सर्जरी करयाणा। उन बतायी कि एम्स क उद्देश्य रोगियूँ तै आधुनिकतम उपचार उपलब्ध कराण च। सफल सर्जरी तै अंजाम दीण ह्वाल हड्डी रोग विशेषज्ञ डा. तरुण गोयल न बतायी कि जनानी आर्थिक रूप से कमजोर छेयी, जै वजह से इलाज नि करवे सकनी छेयी। लिहाजा महिला की सर्जरी आयुष्मान भारत योजना मा करे ग्यायी जै पर संस्थान मा डेढ़ लाख रुपए क खर्च आयी। उन बतायी कि निजी अस्पताल मा यी सर्जरी पर पांच से छह लाख तकन खर्च आंद। आर्थो विभागाध्यक्ष डा.शोभा एस.अरोड़ा की देखरेख मा सर्जरी टीम ममा सीटीवीएस क डा.अंशुमान दरबारी, एनेस्थीसिया के डा. अजय कुमार, डा.सौविक, डा. रामप्रिया, डॉ आकृति आदि शामिल छ्यायी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *