भाजपा क कद्दावर नेता जनरल खंडूड़ी कू लोकसभा चुनाव लड़ना कुणी स्वास्थ्य कारण से ब्वाली ना, अब यूँ पर लगें सकदी दाँव

उत्तराखंड मा पौड़ी गढ़वाल क सांसद अर पूर्व मुख्यमंत्री जनरल बीसी खंडूड़ी (रि.) चुनाव लड़न कुणी तैयार नी छन। उन पार्टी नेतृत्व तै अपरी इच्छा बते याल । शुक्रवार कुणी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट उक घर गेन।

द्वी नेताओ न उसे चुनाव लड़न कुणी ब्वाली, जै पर जनरल न साफ असमर्थता जतायी। पार्टी न अपर पैनल मा सांसद खंडूड़ी नाम सबसे मथी रखयूं। जनरल क इंकार कन से अब भाजपा पौड़ी सीट पर नै चेहरे तै उतारली।

खंडूड़ी न पार्टी तै भरोसा दयायि कि जरूरत पड़न पर उ पार्टी का प्रचार भी करल। भाजपा क प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट न येकी पुष्टि करी। भट्ट क मुताबिक, उ अर मुख्यमंत्री जनरल खंडूड़ी क स्वास्थ्य हालचाल जणन अर चुनाव मा आशीर्वाद लींण खातिर आवास पर गे छ्यायी। लेकिन उन चुनाव लड़न मा असमर्थता जताई।

पौड़ी सीट पर पार्टी उतारली नै चेहरा ये बाबत भट्ट कुणी खंडूड़ी न ब्वाली कि पार्टी न बहुत कुछ दयायि अर उ व पार्टी क दगड़ी खड़ छो। उन आश्वस्त करि कि चुनाव प्रचार मा जख भी उकी जरूरत ह्वेली मि जौलू। भट्ट क मुताबिक, कांग्रेस मा जाणा बाबत जनरल क बेटा मनीष खंडूड़ी तै लेकन उसे क्वी चर्चा नि ह्वाई।

Loading...

खंडूड़ी क चुनाव लड़ने से मना कन क बाद अब पौड़ी लोकसभा सीट बटे क्वी नै चेहरा तै उतरण तय ह्वे ग्यायी। यी सीट पर टिकट की दौड़ मा एक दर्जन दावेदार छन, लेकिन पार्टी सैन्य पृष्ठभूमि से जुड़यू दावेदार पर दांव लगे सकदी।

पार्टी समणी पास कर्नल अजय कोठियाल, एडमिरल ओपी राणा क रूप मा द्वी विकल्प छन। येक अलावा पार्टी यदि गैर सैन्य चेहरा पर दांव लगाण चाली त अनुभवी दावेदारू क तौर पर सतपाल महाराज, अमृता रावत, हरक सिंह रावत, तीरथ सिंह रावत, केएस पंवार सरीखा नाम छन।

आखिरी बगत तकन हूंणा रायी मनीष तै कांग्रेस मा जाण से रुकणा की कोशिश

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट भले इन बुलना छन कि उनकी मनीष खंडूड़ी तै लेकन उकी जनरल से क्वी बातचीत नि ह्वाई। लेकिन सियासी छुई मा या चर्चा छेयी कि पार्टी शीर्ष नेतृत्व न आखिरी बगत तकन कोशिश करी कि जनरल अपर बेटे मनीष तै कांग्रेस मा जाण से रोकी द्यायी। मनयाणा च कि शुक्रवार देर ब्यखन तै मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष खंडूड़ी तै मिलणा कुणी उक आवास पर ये रणनीति खातिर गेन।

हालांकि सूत्रों क मुताबिक, खंडूड़ी न भाजपा नेताओं कुणी साफ तौर पर ब्वाली कि बेटा मनीष क फैसला वेक अपर च अर ये से उक क्वी लीण दीण नी च। ख़बरयो न यह भी ब्वाली कि खंडूड़ी न मनीष दगड़ी ये बाबत बात कन अर उते कांग्रेस मा जाण से रुकण तै लेकन द्वी टूक ना बोली द्यायी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *