“खडु उठाऽ— अग्वाडि बढ़ा” युवा कवि अशोक जोशी कि स्वरोजगार पर कविता

अशोक जोशी स्नातक की पढै करदू एक ज्वान भुला। अशोक गुरुकुल कांगडी हरिद्वार मा स्नातक कु छात्र च अर भौत

Read more

तिलाड़ी कांडः अपर हकहकूकों बाबत पंचायत कन ह्वाळ गौं रवासियूं तै गोळीयूं न मार दे छ्यायी

जंगळूं से जुड़यां अपर हकहकूकों की रक्षा कना बाबत 90 साल पैल एक आंदोलन करे गे छ्यायी अर येक दमन

Read more

बण-जंगळ( गढ़वळी कविता) लिख्वार श्री ओमप्रकाश तिवारी

बण–जंगळ बण-जंगळ हमरी न्हेंन ह्वेरुक भी च। डाळ-बूट हमरी न्हेंन ह्वेरुक भी च। न हमन डाळी लगे न पाणी दे पर डाल्यूंन हमते फलूक दाणि दे फ़ौंट खेंचीन, पत्ता रुंडीन रिंगळा-पिंगळा फूल चुँडिन बेडु-तिमुल हमरी न्हेंन ह्वेरुक भी च। फूलुक डाळी हमरी न्हेंन ह्वेरुक भी च॥   बण काटिकबणांग लगे पख्याड़उजाड़ीकसड़क बणे जंगळ उग्टैकीरूखु डांड बणे रौल-गधन्यूकपाणी सूखे रौल-पाखहमरी न्हेंनह्वेरुक भी च। सीलुड़-तैल्वड़हमरी न्हेंनह्वेरुक भी च॥   तौळ बाँज-कुळें उळे, ऐंछ खर्सू-अँयारनिपटे रूंद डाळयूंक असधरी, लाल बुरांशकफुलून ढके जानबरुकि कुटुम्दरी तितर-बितर करिन

Read more

नै दिल्ली : डीपीएमआई सभागार म वरिष्ठ साहित्यकार श्रीमती वीणापाणी जोशी तैं याद करेगे

नै दिल्लीः 15 मार्च, 2020 खुणि उत्तराखण्ड लोक भाषा साहित्य मंच, दिल्ली का तत्वाधान म डीपीएमआई सभागार, न्यू अशोक नगर,

Read more

डॉ गोविंद चातक स्मृति आखर साहित्य सम्मान 2019 से यूँ वरिष्ठ साहित्यकार तै सम्मानित करे ग्यायी

डॉ गोविंद चातक स्मृति आखर साहित्य सम्मान 2019 से यूँ वरिष्ठ साहित्यकार तै सम्मानित करे ग्यायी आज हिंदी भवन देहरादून

Read more

रावत डिजिटल प्रकाशन: गढ़वळि कुमाउनी भाषा किताबो तै छापिकन कना लोकभाषा संवर्धन

भाषा कू जू प्रेम छ, उ बुलण लिखण, पढ़ण, तक ही नि छ, बल्कि ये तै किताबों बिटी लोगू तकन

Read more