Thursday, September 23, 2021
Home उत्तराखंड ग्राउंड ज़ीरो पर जाकर आपदाग्रस्त इलाकों का जायजा लेंगे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह...

ग्राउंड ज़ीरो पर जाकर आपदाग्रस्त इलाकों का जायजा लेंगे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, अपडेट के लिए पढ़िए पूरी ख़बर…

देहरादून। मानसून सत्र का समापन होने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आपदाग्रस्त इलाको का दौरा करने जा रहे है। खुद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का कहना है कि प्रदेश भर से नुकसान होने की खबरें मिली है। जिसको देखते हुए मैं कल खुद कई इलाकों का दौरा करूंगा। वहीं सभी डीएम को तैयारी पूरी रखने के लिए निर्देशित कर दिया गया है।

बतौर मुख्यमंत्री धमाकेदार रहा मानसून सत्र
उत्तराखण्ड विधानसभा का पांच दिवसीय मानसून सत्र मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के लिए धमाकेदार रहा। शुरुआत से अन्त तक मुख्यमंत्री ने जमकर बैटिंग की। पांच दिन के सत्र में कई बार ऐसे मौके भी आए कि विपक्ष के विधायकों ने सीएम धामी की दिल खोलकर सराहना की। विधानसभा का पांच दिवसीय सत्र मुख्यमंत्री धामी का बतौर मुख्यमंत्री पहला सत्र था। चूंकि 18 मार्च 2022 से पहले राज्य में नई सरकार का गठन होना है, लिहाजा यह मौजूदा सरकार का अंतिम सत्र भी माना जा रहा है। ऐसे में मुख्यमंत्री धामी पर सत्र के दौरान अपनी परफॉर्मेंस को लेकर काफी दवाब था, लेकिन उन्होंने दृढ़ इच्छाशक्ति और कार्य संस्कृति के बूते इस चुनौती को अवसर में बदल दिया।

सदन में धामी ने ग्रेड पे के मामले में पुलिस कर्मियों को वचन दिया कि उनके साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। एक झटके में उन्होंने नंदा गौरा कन्याधन योजना की राशि पाने से वंचित तकरीबन 33 हजार कन्याओं के लिए 50 करोड़ की राशि देने का ऐलान कर दिया। केंद्र की तर्ज पर उन्होंने राज्य के लगभग तीन लाख राज्य कर्मियों व पेंशनर्स का 11 फीसदी डीए बढ़ाने में कोई लाग–लपेट नहीं की। राज्य की वित्तीय स्थिति से जुड़े ये निर्णय मुख्यमंत्री धामी की त्वरित निर्णायक क्षमता को प्रदर्शित करते हैं। इतना ही नहीं बिजली उपभोक्ताओं को बिल का एकमुश्त लंबित भुगतान करने पर फिक्स्ड और विलम्ब शुल्क की छूट दे दी। सत्र के दौरान सदन में पर्याप्त मौजूदगी के साथ ही शासन स्तर की बैठकों पर भी उनका फोकस रहा।

सदन के बाहर और भीतर विपक्ष की बातों को भी उन्होंने पूरा सम्मान दिया। अपने मांगों को मानने के लिए पोस्टर और नारे का सहारा लेने वाले विपक्ष के विधायकों को दुलारते हुए उनकी मांगों के निस्तारण का गंभीर प्रयास किया। अधिकारियों को बुलाकर उनकी मांगों को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने के निर्देश भी दिए। संभवतया उत्तराखण्ड में किसी मुख्यमंत्री ने इस तरह की पहल पहली बार की है। भले ही धामी पहली बार मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं लेकिन सत्र के दौरान उनमें कहीं भी आत्मविश्वास और अनुभव की कमी नजर नहीं आई।

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड में बेहतर शिक्षा व्यवस्था के लिए समर्पित पुष्कर सरकार

छात्र-छात्राओं के हित में सीएम धामी ने लिए ऐतिहासिक निर्णय उत्तराखंड के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था में बुनियादी सुधार...

अच्छी ख़बर :- उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में निजी अस्पताल खोलने पर सरकार देगी सहयोग, जानिए क्या है प्लांनिग

देहरादून। चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में निजी अस्पताल खोलने पर सरकार मानकों में शिथिलता प्रदान करने...

चकराता विधानसभा के इस गांव में 12 साल बाद पहुंची बस, ग्रामीण बोले जिलाधिकारी हो तो राजेश कुमार जैसा

देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार में विकास का पहिया गांव-गांव तक पहुंच रहा है। राज्य के दूरस्थ गांवों तक अधिकारी पहुंचकर जनता की समस्याओं...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

उत्तराखंड में बेहतर शिक्षा व्यवस्था के लिए समर्पित पुष्कर सरकार

छात्र-छात्राओं के हित में सीएम धामी ने लिए ऐतिहासिक निर्णय उत्तराखंड के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था में बुनियादी सुधार...

अच्छी ख़बर :- उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में निजी अस्पताल खोलने पर सरकार देगी सहयोग, जानिए क्या है प्लांनिग

देहरादून। चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्रों में निजी अस्पताल खोलने पर सरकार मानकों में शिथिलता प्रदान करने...

चकराता विधानसभा के इस गांव में 12 साल बाद पहुंची बस, ग्रामीण बोले जिलाधिकारी हो तो राजेश कुमार जैसा

देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार में विकास का पहिया गांव-गांव तक पहुंच रहा है। राज्य के दूरस्थ गांवों तक अधिकारी पहुंचकर जनता की समस्याओं...

25 सितंबर को आमने सामने होंगे भारत पाकिस्‍तान

नई दिल्ली। अमरीका के न्यूयार्क शहर में आगामी 25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान सार्क विदेश मंत्रियों की बैठक होगी। इस बैठक...

आने वाले हैं अच्‍छे दिन, कोरोना से नहीं पड़ेगा डरना

वासिंगटन। संक्रामक रोग विज्ञान में संचारी रोगों की रोकथाम के स्तर की परिभाषाएं दी गई हैं। नियंत्रण का अर्थ है वैक्सीन जैसे जनस्वास्थ्य उपायों...

राइंका हरबर्टपुर के दो छात्र कोरोना संक्रमितए अग्रिम आदेश तक विद्यालय बंद

विकासनगर। ब्लॉक क्षेत्र के राजकीय इंटर कॉलेज हरबर्टपुर के दो छात्रों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद विद्यालय को अग्रिम आदेश तक...

छात्र की मौत में शिक्षक छात्र समेत अन्य पर केस दर्ज

रुद्रपुर। एक निजी इंटर कॉलेज में छात्र की संदिग्ध अवस्था में मौत के मामले में एक छात्र व उसके साथियों समेत विद्यालय के शिक्षकों...

कुमाऊं एवं गढ़वाल मंडल विकास निगम के धरने में गरजे धस्माना

देहरादून। अपनी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले 9 दिनों से कार्य बहिष्कार व धरना प्रदर्शन कर रहे गढ़वाल मंडल विकास निगम व कुमाऊं...

उत्तराखंड की तीन वामपंथी पार्टियां मिलकर लड़ेंगी विधानसभा चुनाव

देहरादून। उत्तराखंड में आगामी 2022 के विधान सभा चुनाव में उत्तराखंड की तीन वामपंथी पार्टियां भाकपा, माकपा, भाकपा (माले) प्रगतिशील, धर्मनिर्पेक्ष और राज्य समर्थक...

अब आनलाईन बनेंगे दिव्‍यांगों के पास

देहरादून। ट्रेन में यात्रा करने वाले दिव्यांगों को रेल पास बनवाने के लिए अब रेलवे मंडल कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। दिव्यांगों की...