नौन जलमबार पर उठली बुब्बा अर्थी, दगड़या न जरा सी बात पर गुस्सा मा भ्याळ मा धक्का देकन करी नृशंस हत्या

उत्तराखंड पिथौरागढ मा हुई पुलिसकर्मी मोहित जोशी हत्या परिवार मा कोहराम हूयूं। मोहित न सहकर्मी पुलिस कांस्टेबल जरा सी गुस्सा कारण हंसद खिलद परिवार तै बर्बाद करी द्यायी। अब नौन जलमबार पर पिता अर्थी उठली। कांस्टेबल मोहित जोशी सितम्बर मैना मा अपरी भतीजी नामकरण मा सपरिवार अपर घर ऐ छ्यायी। उन अपर नौन जलमबार पर घर आण खुणी बोली कन गे छ्यायी। 07 जनवरी खुणी उंक नौन रौनक पचौं जनमदिन छ। बेटा जनमदिन उक परिवार दगड़ी मनाणा की इच्छा जतै छेयी। लेकिन बिडम्बना द्याखो कि बेटा जलमदिन पर उक लाश घर पौछली। मोहित अपरी मॉ लीला जोशी अर इकलौता भाई राजीव तै बौत प्यार करद छ्यायी। मोहित मौसी सावित्री न बतै कि एक जनवरी खुणी वैन फोन करी कन अपरी मॉ भाई अर चचेरे भाईयू से बात करी छेयी। घर म ददी दादा नाती जनम दिन मनाणा तैयरी कना छ्यायी।
बतै दिवा कि पुलिस लाईन मा तैनात पुलिस जवान तै वैक दगड़या जवान न भ्याळ मा धक्का देकन मारी द्यायी। वैक लाश पंचों दिन भ्याळ बिटी बरामद ह्वायी। पुलिस न आरोपी पुलिस कर्मी गिरीश जोशी खिलाफ धारा 302 तहत मुकदमा दर्ज करी वै तै गिरफ्तार करयाल। गिरीश जोशी दन्यां अल्मोड़ा धूरा रैवासी छ। पुलिस न सहकर्मी कांस्टेबल तै हिरासत मा लेकन पूछताछ करी त वैन मोहित हत्या कन जुर्म कबूल करी। सख्ती पूछताछ कन पर गिरीश जोशी न बतै कि 11 दिसम्बर खुणी वैक कमरा पर कैन कुंडी लगै द्यायी, येक शक वै तै मोहित जोशी पर छ्यायी। ये तै लेकन द्वीयू मा खूब विवाद भी ह्वायी। येक बाद द्वी जनवरी खुणी मोहित जोशी तै अपर ऑल्टो कार मा लेकन ग्यायी अर बांस रोड़ मा कफलडुंगरी समणी मोहित पहाड़ तरफ पिशाब कन लगी त गिरीश न वै तै भ्याळ मा धक्का दे द्यायी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *