कोरोना संक्रमित मनखी न दिखायी मनख्यात, अस्पताळ मा भर्ती ह्वे कन होर मरीजूं बाबत बणी मदर टेरेसा

वैश्विक महामारी कोरोना वायरास से पाड़ितौं से समाज मा अजकली अलग ही नजर से दिखयाणा छ, वखी दूसर तरफ दिल्ली करावल नगर विधानसभा क्षेत्र दयालपुर रैवासी लाल सिंह रावत (लक्की) लोक नायक अस्पताळ दिल्ला मा यी महामारी से संक्रमित मनख्यूं की दिन रात निस्वार्थ भाव से मदद करी कन मानवता मिसाल पेश कना छन। जबकि उ अफीक कोरोना पॉजीटिव आण बाद यख भर्ती ह्वे छ्यायी।

    लाल सिंह रावत दिल्ली करावल नगर विधानसभा क्षेत्र दयालपुर मा अपर परिवार दगड़ी रैवास करदन। उ एक सामाजिक कार्यकर्ता छ, लॉकडाउन बगत जनता की सेवा अर खानपान अर राशन बटंण बगत लाल सिंह रावत कै आदमी संपर्क मा ऐ ग्यायी। उं तै लगी कि मी तै अपर कोविड 19 टेस्ट करवाण चयाणा।

           लाल सिंह रावत न जनी अपर कोविड 19 टेस्ट करवायी उंकी रिपोर्ट पॉजीटिव आण से उं मा यी महामारी पुष्टि ह्वायी त उ दिल्ली लोकनायक अस्पताळ मा भर्ती ह्वे ग्यायी। लाल सिंह रावत जब अस्पताळ मा भर्ती ह्वेन त ये बीच उंक परिवार आठ लोग कोरोना पॉजीटिव पये गीन, जै मनन उंक द्वी साल अर पॉच साल नौन्याळ शामिल छन। अस्पताळ मा भर्ती हूण बाद घर मा फोन करी कन अपर परिवार हौसला बढाणा दगड़ी दगड़ी उंक मार्गदर्शन भी कना रैन, अर बुल्द रायी कि घबराण नी छ, लड़न छ, डरण नी, कोरोना तै हराण।

          लाल सिंहर रावत न अपर परिवार लोगू कुणी ब्वाल कि हॉस्पिटल आणा जरूरत नी छ, सब्बी घर मा क्वांरटीन राव, ये से कुछ नी ह्वाल। जब उन द्याखी कि अस्पताळ मा कोरोना महामारी से संक्रमित मरीजौं देखभाळ भली ढंग से नी हूणा, न क्वी डॉक्टर अर ना सहायक कर्मचारी क्वी भी समणी आणा कुणी राजी नी छ। भैर बीतर आण जाण बाबत सगत ना बुल्यूं छ्यायी। बौत से मरीज इन छ्यायी, जू ठीक से बच्याळी भी नी सकणा छ्यायी अर ना हीटी सकणा छ्यायी, उंक खाण पीण दवै से कै तै क्वी मतलब नी छ्यायी। लाल सिंर रावत अस्पताळ दुर्दशा देखी त अफु तै रोकी नी पायी, अर वै दि नही उन मन बणै द्यायी कि जै दिन तकन यख छौं यूं सब्यूं देख रेख दिन रात करलू अर कै दगड़ी क्वी भेदभाव नी करलू, बल्कि सब्यूं सेवा अर देखभाळ करलू। बुल्दन कि जब हिया मा क्वी काम कना बाबत सौं घंटी याल त कुछ भी कन नामुमकिन नी हूंद। लाल सिंह रावत न यन करी कन दिखायी, जैक अस्पताळ मा कल्पना कन भी मुमकिन नी छ्यायी। ये दौरान उन अस्पताळ कुछ फोटो अर वीडियो भी अपर कैमरा मा लेन।

यन स्थिति मा जख लोग अपर जिंदगी आस खूणा छ्यायी, वखी लाल सिंह रावत न गजब हौसला दिखायी अर विपरीत परिस्थितियूं बावजूद भी मरीजौं मदद मा लगी ग्यायी, जबकि अफीक भी मरीज छ्यायी। जख जरूरी पीपी किट पहनी कन भी कोविड-19 क वारिसर्य मन मा डर बैठी छेयी वखी लाल सिंह रावत बिना क्वी जरूरी उपकरणौं से अपर सेवा से सब्यूं दिल जीतणा ही ना बल्कण बसणा छ्यायी, अर मरीजूं सेवा कना छ्यायी। लाल सिंह रावत अपरी सेवा दौरान कोरोना से संक्रमित मरीजौं मनोबल अर हौंसला भी बढाणा रैन। उन अपर सेवा काम से अस्पताळ मा सब्बी मरीज अर चिकित्सा कर्मीयूं दिल जीत ल्यायी। उंक ये काम की चिकित्सा कर्मियूंं न भी खूब सराहना करी अर उंक ये जज्बा तै सलाम करी। लाल सिंह रावत न अपर साहस, सेवा, समर्पण, अर कब्बी हार नी मनण ह्वाळ जज्बा तै जै ढंग से कोरोना खिलाफ लडै़ लड़ी उ सब्यूं कुणी एक मिसाल छ।

            लाल सिंह रावत अफीक बतै कि जब उ कोरोना वायरस से संक्रमित ह्वेन तब वै दौरान ना कै राजनीतिक नेता न अर ना प्रशासन न उंक अर उंक परिवार क्वी सुध नी ल्यायी। कुछ दगड़यों अर पडौसियूं से लगातार संपर्क बणै कन राखी अर ब्वाल कि कुछ भी मदद जरूरत ह्वात त हम तै बतैन, यूं लोगू सुहानभूति अर दीयूं हौसला से खुद तै संभाळी अर सेवा काम मा व्यस्त रैन। उन ठीक हूण बाद मैक्त अस्पताळ साकेत मा अपर प्लाज्मा भी डोनेट करी। वास्तव मा लाल सिंह रावत यी सच्ची घटना न बतै कि सकारात्मक रवैया हर मुसीबत से लड़न मा सफल रंद। ़

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *