अस्पताल लापरवाही वजह से प्रसव कन बगत युवती मौत पर समाज सेवी रोशन रतूड़ी न जताई रोष, ब्वाल की आखिर कब सुधरल अस्पताल मा हालात

कर्णप्रयाग मा सरकरी अस्पताल मा भारती नाम की युवती क अस्पताल लापरवाही कारण प्रसव दौरान मौत ह्वे ग्यायी। भारती गौ सैंज, अजो हाल रैवास सुभाष नगर कर्णप्रयाग चमोली क बच्चा पेट मा ही खत्म ह्वे ग्यायी जैक बाद भारती की भी मौत ह्वे ग्यायी। ये बाबत परिजनू न अस्पताल पर लापरवाही क बके लगायी। गर्भवती बैणी भारती उर्फ कृष्णा उम्र 22-23 वर्ष घरवली विराज रावत ग्राम सैंज हाल निवास सुभाषनगर कर्णप्रयाग की रा. सामु. स्वा. केन्द्र कर्णप्रयाग चमोली म दि. 27 जनवरी 2019 कुणी सुबेर 5:00 बजे लगभग मौत ह्वे ग्यायी, बते दिवा कि गर्भवती भारती उर्फ कृष्णा की डिलेवरी जाँच क अनुसार 5 फरवरी 2019 कुणी  हूंण बतयू छ्यायी। जैकी तबियत  24 जनवरी 2019 कुणी ब्यखन बगत  9:00 बजे क लगभग खराब हूंण लगी, तकलीफ देखिकन वीक आदमी  विराज रावत वी तै रा. सामु. स्वा. केन्द्र कर्णप्रयाग अपर गाड़ी  से लेकन ग्यायी, हालाँकि गर्भवती भारती उर्फ कृष्णा सुभाषनगर कमरा बटी  गाडी तकन अर अस्पताल की सीढी बटी प्रसूति गृह तकन अफिक चली कन ग्यायी। अस्पताल मा देखरेख अर सामान्य उपचार क बाद रात 11:00 बजे लगभग उतै वापस कमरा मा लखये ग्यायी कि सब ठीक च। 

रात 3:00 बजे क आसपास फिर गर्भवती भारती की तबियत बिगडन शुरू ह्वे ग्यायी, सुबेर हूणं से पैली गर्भवती भारती उर्फ कृष्णा बेहोश हूणं लगी ग्यायी त फिर . 25 जनवरी 2019 कुणी  सुबेर 5:00 लगभग 108 की मदद से अस्पताल ली जये ग्यायी।  सुबेर डाक्टरी जाँच में बतये ग्यायी  कि गर्भवती क पुटगो मा बच्चा मरयू , बच्चा पुटगो मा कब मरी यी पूछण पर बतायी कि बच्चा माँ क पेट मा द्वी दिन पैल मर गे छ्यायी (ऐसा बताया जा रहा है) ये बीच बेहोसी की हालत मा ही गर्भवती तै बचाण बाबत 11:00 बजे लगभग दिन तक आपरेशन करे ग्यायी, लेकिन आपरेशन क बाद मौत तकन गर्भवती भारती उर्फ कृष्णा होश मा नि ऐ सकी।

Loading...

जब या खबर विदेश मा रैवास कन ह्वाल उत्तराखंड सामाजिक कार्यकर्ता रोशन रतूड़ी सोसल मीडिया मा एकन शोक प्रकट करि अर ब्वाल कि आखिर कब तलक हमर बैणी इन जान खूणा रैली। आखिर क्या जनप्रतिनिधियू क्वी दायित्व नि च की उ सब लोग मदद कना खातिर एथर किले नि ऐ करदन। उन जनप्रतिनिधियूँ कुणी ब्वाल कि क्या जनता सिर्फ वोट दीण ह्वाली मशीन च। आज सरकरी अस्पताल लापरवाही कारण भारती तै जान गवांण पड़ी।  क्या सच मा देवभूमि मा अब मन्ख्यात खत्म हूँण लगी ग्यायी।

जब हमारी देवभूमि मैं किसी बहन की अस्पताल मैं दर्दनाक मौत हो जाती है तो तब कोई भी हमारे माननीय नेता,जनप्रतिनिधि सामने सहयोग के लिए आगे क्यों नही आते है..? आज सरकारी अस्पताल की ग़लती की बजह से भारती बहन भारती जी,जो ग्राम-सैंज हाल.निवास-सुभाषनगर , कर्णप्रयाग चमोली की थी जिनका बच्चा पेट मै ही पर चुका था, छोड़कर चली गयी ..?? कया देवतुल्य जनता सिर्फ़ वोटों देने वाली मशीन है ..?? कया यहाँ गरीब इंसान के जीवन की कोई क़ीमत नही ..? कब तक सराकारी अस्पतालों मै ऐसी लापरवाही होती रहैगी .? ऐसे मै सरकारी अस्पतालों पर कौन भरोसा करेगा ..??

Gepostet von Roshan Raturi RR am Sonntag, 27. Januar 2019
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *