बैंग्लूर मा हूण ह्वाळ विमान क्रेश मा उत्तराखण्ड ये सपूत न अपर जान गवैं कन बचायी होरू जिंदगी

बैंगलुर मा शुक्रवार दिन ट्रेंनी लड़ाकू विमान मिराज- 2000 मा हादसा ह्वे ग्यायी। ये हादसा मा 02 पायलटूं की मौत ह्वे ग्यायी। यी हादसा सुबेर 10 बजीकन 30 मिनट पर ह्वायी। देश न स्कवॉर्डन लीडश्र समीर अबरोल अर सिद्धार्थ नेगी जणी द्वी बहादुर जांबाज तै ख्वे द्यायी। बतयाणा च कि सि़द्धार्थ नेगी देहरादून रैवासी छ्यायी। देहरादून क पंडितवाड़ी मा सिद्धार्थ नेगी परिवार रैवास करदू, वैक पिता बलबीर सिंह नेगी गा्रफिक ऐरा विश्वविद्यालय मा वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी छन। उंक एक नौन सिद्धार्थ नेगी अर एक नौनी च। बतयाणा च कि सिद्धार्थ नेगी जून 2009 मा कमीशन करे गे छ्यायी। सिद्धार्थ नेगी ब्यौ डेढ साल पैल ह्वे छेयी। बेटा क शहीद हूण खबर से पूर परिवार शोग मा डूब्यूं च। वायु सेना अधिकारियूं बुलण च कि विमान आबादी ह्वाळ इलकू मा पड़ सकदू छ्यायी, लेकिन द्वी पायलटूं की समझदारी से यू बड़ू हादसा टळी ग्यायी।
अगर यी विमान आबादी ह्वाळ इलकू मा पड़दू त हाहाकार ह्वे जांद। लेकिन पायलटूं न अपर होशियार अर कार्यक्षमता परिचय द्यायी। ये विमान मा यी द्वी पायलट बैठ्या छ्यायी। जाणकारी हिसाब से द्वी पायलटूं न अफू तै बचाण कुणी विमान बटी निकळण की कोशिशउ करी लेकिन वख धमाका हूण बाद विमान मा आग लगी अर उ वैक चपेट मा ऐ गेन। दुर्घटना मा एक पायलट लाश त पूर झुलसी ग्यायी अर दूसर पायलट तै सेना अस्पताळ ली जये ग्यायी। अधिकारी न बतै कि बाद मा घैल पायलट क भी मौत ह्वे ग्यायी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *