लॉकडाउन में गर्लफ्रेंड से हुआ ब्रेकअप, डिप्रेशन को हराकर खोला ‘दिल टूटा आशिक’ कैफे

प्यार में टूटकर बहुत से आशिक बिखर जाते हैं। देहरादून के 21 वर्षीय दिव्यांशु बत्रा भी टूट गए थे। लेकिन जल्द ही उन्होंने खुद को संभाल लिया। दरअसल, लॉकडाउन के दौरान जब दुनिया अकेलेपन का साथी ढूंढ रही थी तब इस नौजवान का ब्रेकअप हो गया था। यह मोहब्बत हाई-स्कूल वाली थी। आप समझते होंगे कि इस उम्र में जब दिल टूटता है तो खाना क्या, बंदा अरिजीत सिंह के गाने सुनना भी छोड़ देता है। दिव्यांशु 6 महीनों तक डिप्रेस्ड रहे और ज्यादा से ज्यादा पबजी खेलने लगे। लेकिन एक दिन उन्होंने फैसला किया कि वो अब ऐसे नहीं जीएंगे और एक कैफे खोल लिया।

दरअसल, 6 महीने तक डिप्रेस्ड रहने के बाद दिव्यांशु ने फैसला किया कि वो अब और शोक नहीं मनाएंगे। उन्होंने एक कैची (आकर्षक) नाम के साथ ऐसा कैफे खोलने का सोचा, जो उनके टूटे दिल की कहानी कहे जिससे लोग खुद को जोड़ सकें।

दिव्यांशु ने कहा, ‘मां मेरा साथ देती हैं। पर पापा कैफे के नाम से खुश नहीं थे। लेकिन जब एक दिन उनका दोस्त जो इस बात से अंजान था कि वह कैफे मेरा है, उसने कैफे के खाने और उसके माहौल की तारीफ की। तब जाकर मेरे पापा को भरोसा हुआ कि मैं कुछ अच्छा कर रहा हूं।’

कैफे खोलने की वजह के बारे में दिव्यांशु ने कहा, मैं चाहता था कि लोग मेरे कैफे में आए और अपनी ब्रेकअप की कहानियां शेयर करें। ताकि मैं उस दुख से बाहर निकलने में उनकी मदद कर सकूं और वह जिंदगी में आगे बढ़ सकें। मैं इसमें सफल हो रहा हूं। क्योंकि अब लोग कैफे का नाम देखकर आ रहे हैं। साथ ही, अपनी ब्रेकअप की कहानियां भी मेरे साथ शेयर करते हैं। फिलहाल, दिव्यांशु अपने छोटे भाई राहुल बत्रा के साथ कैफे संभाल रहे हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *