सात समुंदर पार बिटी 500 उत्तराखण्डी होटिलियर्स न मुख्यंमत्री त्रिवेन्द्र रावत कुणी भेजी रंत रैबार

लाॅकडाउन बाद होटल व्यवसाय मा संकट आण से उत्तराखण्ड बौत से होटिलियर्स जू विदेश मा छ्यायी उंक रोजी रोटी पर संकट ऐ ग्यायी। ये बाबत अंतर्राष्ट्रीय समन्वयक दीपक ध्यानी, उत्तराखण्ड ऐसोसिएशन, आफ यूएई, सात समुंदर पार बिटी उत्तराखंडी रैवासी होटिलियर्स न उत्तराखण्ड मुख्यमंत्री से गुहार लगै अर चिठ्ठी ल्याखी।

        दीपक ध्यानी ब्वाल कि हमर 500 से ज्यादा उत्तराखंडी होटिलियर्स बिना नौकरी भूखा प्यासा दुबई मा फंस्या छन। हम उंतै प्राईवेट चार्टर्ड बिटी निकाळी कन उत्तराखण्ड लाणा कोशिश कना छवां। खर्च भी हमस ब मिलीकन उठाणा छवां। भारतीय दूतावास अर विदेश मंत्रालय ये पर अपर मोहर लगै याल, जौन वख हालात दिखीं छ, पर सिविल एविएशन मंत्रालय ना जाणै किलै फाईल रोकी कन बैठ्यूं छ। किलैकि हमन ये बाबत फ्लाई दुबई कम्पनी तै चुनी ज्वा हम तै सस्ती पड़नी छेयी या फिर गरीब उत्तराखंडियूं बाबत देश सुरक्षा तै खतरा छ। दुबई क कैरियर्स तै अप्रूवल नी दीण चांद त नियम निकाळी कन, द्याव हम अप्लाई नी करला।

यानि आज फ्लाईट छेयी कत्ती लड़का तै दूर दूर से ब्याळ रात मा ऐयरपोर्ट पौछी गे छ्यायी पर गरीब किस्मत गरीब हूंद, अर सुबेर तकन भी मिनीस्टरी फाईल तै रोकी कन रख्यूं रायी पता नी किलै। अब यूं युवकौ मा नौकरी छ, अर ना रैणा बाबत जगह अर ना खाणा पीणा कुणि पैसां लेकिन सिविज एविएशन मंत्रालय इथगा डीठ कि उ पर क्वी फर्क नी पड़ना छ। व्यवसायिक चार्टर्ड सरा चलाणा छन पर मानवता ह्वाळ मिशन से दिक्कत छ।

      उन मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड त्रिवेन्द्र सिंह रावत से आग्रह करी कन ब्वाल कि महोदय FZ 819 जै कि 07 जुलाई कुणी अप्रूवल बाबत दिल्ली सरकार, भारतीय दूतावास, दुबई सरकार, स्वास्थ्य मंत्रालय, अर भारतीय विदेश मंत्रालय बिटी स्वीकृति मिलण बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय समणी अप्रूवल कुणी जयीं छ, अर वखी रायी। अब फ्लाई दुबई, 10 जुलाई कुणी FZ 819 कुणी तैयार छ, अगर नागरिक उड्डयन मंत्रालय मंजूरी दे द्याव। उन मुख्यमंत्री से यू आग्रह भी करी कि ये विषय संज्ञान लेकन संबंधित विभाग अर मंत्रालय तै आदेश द्याव कि हमर उत्तराखण्ड गरीब अर बच्चै की फ्लाईट तै भारत आण द्याव।
उत्तराखंड असोसिशन आफ यूएई तरफ छ अर मी अर दुबई टीम जू कि ये प्रोजेक्ट तै कना छवां हम तुमर आभारी रौला।

दीपक ध्यानी  फोन न० 91- 97171901418

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *