गढ़वाळी साहित्य मा एक होर पोथि जुड़ी आज, सुरेश स्नेही गढ़वाली काव्य संग्रह ” मनख्यात” मेयर सुनील गामा न करी विमोचन

गढ़वाळी साहित्य मा एक होर पोथि जुड़ी आज, सुरेश स्नेही गढ़वाली काव्य संग्रह ” मनख्यात” मेयर सुनील गामा न करी विमोचन

देहरादून: समाज मा बोली भाषा से हमरी पहचान हूंद अर यी बोली भाषा समाज तै गठयाणा काम करदन , यी बात आज व महापौर देहरादून सुनील उनियाल गामा न प्रेस क्लब मा आयोजित गढ़वाली कवि सुरेश स्नेही पोथी ” मनख्यात” विमोचन मौका पर बुलीन ।

गामा न ब्वाल कि राज्य मा लिख्वारू साहित्यकारौ अर कवियों तै बढ़िया सुविध मिलो ये खातिर सरकार कृत संकल्प कनी च।, उन ब्वाल कि कविवर स्नेही यू प्रयास गढ़वाली भाषा क्षेत्र मा मील कू पत्थर साबित ह्वाल | कार्यक्रम विशिष्ट अतिथि लोक गीतांग प्रीतम भरतवाण न काव्य संग्रह मनख्यात खूब तारीफ करी कन ब्वाल कि जहां न पहुँचे रवि वहाँ पहुँचे कवि। भरतवाण न ब्वाल कि ये काव्य संग्रह से पता चलदू कि राज्य मा दूध बोली भाषाओं खातिर कवियूँ समर्पण भौत ज्यादा च, आज साहित्य क्षेत्र मा हम तै काम कना जरूरत च। धाद संस्था केंद्रीय अध्यक्ष लोकेश नवानी न ब्वाल कि मन्ख्यात काव्य संग्रह मा कवि न सब्बि पक्ष पर अपरि कलम चलाई। उन उकि लिखी द्वी कवितौ काव्य पाठ भी करी।

कार्यक्रम संचालन श्रीमती बीना बैंजवाल ने करी , ये मौका पर अया कवियों न कविता पाठ भी करी जैमा शान्ति प्रकाश जिज्ञासु, चन्द्र दत्त सुयाल,बीना कण्डारी, गोपाल बिष्ट, डा सत्यानंद बडोनी, सतीश बलोद्धी अर मुकेश हटवाल वाह वाही लूटी। मुख्य अतिथि न सब्बि कवियूँ तै सम्मानित करी।

ये मौका पर प्रवीण भट्ट, मनोजट्ट,सिद्धीलाल विद्यार्थी,विष्णु दत्त वेंजवाल,हरीश कंडवाल, मोहन लाल निराला, सुमित्रा जुगरान, अनिल भारती, किशन सिंह,प्रदीप स्नेही तथा दीप चन्द, चन्द्रवीर गायत्री कई साहित्यकर्मी अर गणमान्य लोग मौजूद छ्यायी।|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *