सरकार शहीदू परिवार तै दू दू करोड़ रूप्या द्याव अर शहीद परिवार जिम्मदेरी भी सरकार ल्यावः रोशन रतूड़ी

पुलवामा आंतकवादी हमला से पूर देश स्तब्ध च, अर देश मा पाकिस्तान से बदला लीण मॉग जोर से उठणा च। ये बाबत देश प्रधानमंत्री मोदी ऐथर ऐकन ब्वाल कि सुरक्षा बलूं तै पूर छूट की उ दिन वार, बगत अर जगह देखीकन यूं शहीदू शहादत बदला ले सकदन। प्रधानमंत्री मोदी जी ब्वाल कि पाकिस्तान बौत बड़ी गलती करी अर वीं गलती सजा जरूर मिलली। पुलवामा आतंकवादी हमला मा शहीद हुयां जवान बाबत अपर श्ऱ़द्धाजंलि पूर देश मा त दीणा छनी, वखी प्रवासी भारतीय भी यीं दुख घड़ी अपर देश दगड़ी छन। पुलवामा घटना मा शहादत दीण ह्वाळ शहीदू खातिर समाज सेवी रोशन रतूड़ी सोशल मीडिया बटी अपर संवेदना प्रकट करी कन ब्वाल कि हम सब्बी देश वासी शहीदू परिवार दगड़ी ये दुखद घटना बगत दगड़ मा छवां।
समाज सेवी रोशन रतूड़ी सोशल मीडिया मा ऐकन ब्वाल कि हम सब्बी देशवासी सरकार से निवेदन करदा कि वीर जवान शहीदू क परिवार तै द्वी द्वी करोड़ की आर्थिक सहायता दीये जाव, जै से जवान शहीदू परिवार अपर परिवार भरण पोषण कर सको। सरकार शहीदू परिवार बच्चों की शिक्षा की जिम्मेदरी ल्याव। विधायक अर सांसद भी शहीद, मंत्री अर उच्चाधिकारी अपर वेतन बटी यूं तै कुच्छ हिस्सा देकन यूंकी सहायता करो।


ऐथर उन ब्वाल कि आखिर कब तकन हमर देश वीर जवान इन शहादत दीणे राल। क्या श्ऱ़द्धाजंली देकन शहीदू परिवार खुशी वापस मिली जाली। दिखे जाव त हमर देश मा 133 करोड़ की आबादी रैवास कन ह्वाळ ताकतवर देश च, अर पाकिस्तान कुल आबादी 22 करोड़ लगभग च। पाकिस्तानी सेना मुकाबला मा हमरी देश सेना वीर जवानू की संख्या ज्यादा च, फिर भी हमर बहादुर वीर जवान सैनिकू शहादत हूणी। हमर देश मा अलगाववादी नेता छन उंकी सरा ऐशो आराम छीने जाव अर यूं तै कड़ी से कड़ी सजा दीये जाव।
जै मॉ अपर नौन जै बैणी न अपर भाई, जै पत्नी अपर पति अर जै नौन अपर बुब्बा, जै भाई न अपर भाई ख्वे ह्वाल उंते जैकन पूछो कि उंक परिवार पर क्या बीतणी ह्वेली, यूं सब्यूं जिम्मेदार क्वा च। रोशन रतूड़ी ब्वाल कि आज तकन कै भी नेता अपर नौन तै सेना मा नी भेजी, उं तै क्या पता कि क्या हूंद शहादत की पीड़ा। अब बगत च देश तै एकजूट हूण अर पाकिस्तान तै येकू जबाब दीण की। रोशन रतूड़ी ब्वाल कि सरकार सैनिकू वेतन सांसद अर विधायकू से ज्यादा करे जाव ताकि लोग राजनीति से ज्यादा सेना मा जाणा कि कोशिश करो । अगर सेना अर सैनिक मजबूत ह्वे जाव त देश अफी मजबूत ह्वे जाल। सेना सीमा पर रैकन देश की रक्षा करदी।
एक बार फिर जय हिन्द।

हम सभी देशवासी सरकार से निवेदन करते हैं ,कि वीर जवान शहीदों के परिवारो को दो-दो करोड़ रूपये की आर्थिक रूप से सहायता प्रदान की जाए । जिससे वीर जवान शहीद का परिवार अपने परिवार का सही से पालन पोषण कर सके । वीर जवान शहीदों को नम आँखों के साथ भावभिनी श्रद्धांजलि ..! आखिर कब तक हमारे वीर जवान इसी तरह से शहीद होते रहेंगे ..?कया श्रद्धांजलि देने से व तोपों की सलामी देने भर से शहीद परिवारों की खुशीयां वापस आ सकती है ..? देखा जाय तो हमारा देश विश्व मै 133 करोड़ की आबादी वाला शक्तिशाली देश है ,और पाकिस्तान की कुल आबादी 22 करोड़ के लगभग है, और पाकिस्तानी सेना के मुक़ाबले हमारी भारतीय वीर जवान सेना की संख्या कई गुना अधिक है ,फिर भी हमारे बहादुर वीर जवान सैनिको को इस तरह से मारा जा रहा है और शहीद हो रहे है ..? इसका मुख्या कारण है कि अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए हमारे बहादुर वीर जवानों को खुली छूट नही दी जा रही है, अगर हमारे बहादुर वीर जवानों को खुली छूट दी जाये तो यक़ीन किजीए , दुश्मनों का नामों निशान मिट जायेंगा । हमारा एक-एक वीर जवान सैनिक अकेला ही हज़ार हज़ार के बराबर है । क्यों सेना को खुली छूट नही दी जाती है ..??जिस माँ अपना बेटा खोया है , जिस बहन ने अपना भाई खोया है, जिस बहन ने अपना पति खोया है, जिन बच्चों ने अपना पिता खोया है , उनसे जाकर पूछों उनके परिवार मे कैसे मातम छाया हुआ है । इस सबका ज़िम्मेदार कौन है …??? मुझे लगता है कि देश के अन्दर सेना का शासन होना चाहिये । क्योंकि राजनेताओं के लिए देश बडा नहीं है , राजनेताओं के लिए कुर्सी पहले है । अगर किसी राजनेता के परिवार का कोई मरता तो उनको दुख का अहसास होता ।इतिहास गवाह है आज तक किसी भी नेता का बेटा देश के लिए शहीद नही हुआ है ..!! ऐसा क्यों ..?? आप मै से किसी के पास कोई जबाब है …?बहादुर वीर जवान शहीदों को व भारतीय सेना को सत् सत नमन करते है ।RR Humanity-1st Dev Bhoomi Uttrakhand

Gepostet von Roshan Raturi RR am Freitag, 15. Februar 2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *