Monday, January 24, 2022
Home राष्ट्रीय पुलिस के शक की सुई सुभाष शर्मा पर, अवैध संबधों को लेकर...

पुलिस के शक की सुई सुभाष शर्मा पर, अवैध संबधों को लेकर की गयी


देहरादून। देहरादून के प्रेमनगर में हुई नौकर और मालकिन की हत्या के बाद घटनास्थल के पास दीवार पर खून से सने हाथ के पंजे के निशान, दोनों शव आसपास होना, शव पॉलिथीन से ढके होना, धारदार हथियार की मार से चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनाई न देना आदि तमाम सवाल घर में मौजूद सुभाष शर्मा के इर्द-गिर्द घूम रहे हैं। पुलिस भी हैरान है कि पत्नी और नौकर के लापता होने की सूचना देने वाले सुभाष शर्मा की नजर रसोईघर की खिड़की के पास क्यों नहीं पड़ी। पुलिस इन्हीं सब सवालों में फिलहाल उलझी हुई है।

घटनास्थल को देखकर हत्या का मामला तो स्पष्ट है, लेकिन वारदात को अंजाम किसने और क्यों दिया। इस सवाल के जवाब के लिए पुलिस कई लोगों से पूछताछ कर रही है। घटनास्थल को देखकर कहीं से भी लूट का मामला भी नहीं लगता, क्योंकि घटनास्थल घर के बाहर है और सुभाष शर्मा सुरक्षित हैं। ऐसे में सवाल यह है कि यदि कोई चौथा व्यक्ति वहां था तो उन्नति शर्मा और राजकुमार घर के बाहर अहाते में क्यों थे।

घटनास्थल के पास दीवार पर खून से लथपथ हाथ के पंजे के निशान वहां पर संघर्ष की गवाही दे रहे हैं। लगता है कि दोनों ने बचने का भरसक प्रयास किया था। इसके अलावा दोनों को एकसाथ मारने के कोई पुष्टि नहीं हो रही है। साथ ही जानलेवा हमले के पहले कोई तो चिल्लाया होगा, लेकिन चंद कदमों की दूरी पर घर में मौजूद सुभाष शर्मा तक आवाज नहीं पहुंची। यह बात पुलिस के साथ किसी के गले के नीचे नहीं उतर रही है।

घटनास्थल पर दोनों के शव अगल-बगल पड़े थे। राजकुमार के शव पर सामान्य पॉलिथीन पड़ी थी। जबकि, उन्नति शर्मा के ऊपर चमकीली लेमिनेशन वाली पॉलिथीन थी। ऐसे में यह तय है कि हत्या करने के बाद दोनों को एक साथ लेटाया गया। वहीं दीवार पर हाथ के पंजे के निशान भी ऐसी ही स्थिति की ओर इशारा कर रहे हैं।  बंगले के बगीचे और फुलवारी की लॉपिंग के लिए तमाम औजार घर पर रखे हुए थे, लेकिन पाठल नहीं मिली। बंगले के परिसर में बड़े पेड़ भी हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि पेड़ों की लॉपिंग के लिए पाठल जैसा औजार भी घर में होना चाहिए था। ऐसे में शक यह भी है कि घर में ही रखी पाठल से वार कर दोनों को मौत की नींद सुला दिया गया और फिर पाठल को कहीं छिपा दिया गया।

ग्रामीण हैं अनजान सुभाष शर्मा की यह कोठी गांव में सबसे बड़ी है। यहां रहने वाले लोग गांव के लोगों से बहुत ज्यादा संपर्क में नहीं रहते थे। ग्रामीणों के अनुसार उनके यहां से कोई गांव की शादी-विवाह में भी शामिल नहीं होता था। यही कारण था कि ज्यादातर ग्रामीणों को तो बंगले के मालिक सुभाष शर्मा का नाम तक नहीं मालूम। ग्रामीणों के अनुसार अंदर कौन आता-जाता है इस बारे में किसी को खबर नहीं रहती है। सुभाष शर्मा और उनके परिवार वाले किसी से मिलते-जुलते नहीं थे। बस वहां पर दूध देने जाने वाली महिला जाती थी। शर्मा परिवार रोजाना एक लीटर दूध लिया करता था। बुधवार को भी दूध देने के लिए महिला वहां गई थी, लेकिन वह दूध का बर्तन रखकर चली गई।





Source link

RELATED ARTICLES

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा उत्तराखंड में सरकार बनी तो 500 से कम में देंगे घरेलू गैस...

देहरादून। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी पर मोदी सरकार मौन...

ओडिशा। केंद्रीय मंत्री विश्वेश्वर टुडु पर लगा बड़ा आरोप, रिव्यू मीटिंग के दौरान अधिकारियो पर किआ हमला

ओडिशा। केंद्रीय मंत्री विश्वेश्वर टुडु पर लगा बड़ा आरोप ।एक सरकारी अधिकारी का कहना  है कि समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने उन पर...

ओडिशा। केंद्रीय मंत्री विश्वेश्वर टुडु पर लगा बड़ा आरोप, रिव्यू मीटिंग के दौरान अधिकारियो पर किया हमला

ओडिशा। केंद्रीय मंत्री विश्वेश्वर टुडु पर लगा बड़ा आरोप ।एक सरकारी अधिकारी का कहना  है कि समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने उन पर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

बड़ी खबर, यमकेश्वर के वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता महावीर प्रसाद कुकरेती ने दिया आहत होकर पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से त्याग पत्र

देहरादून। यमकेश्वर के वरिष्ठ कार्यकर्ता महावीर प्रसाद कुकरेती ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को शोसल मीडिया के माध्यम से पत्र लिखकर...

उत्तराखंड के अनुराग रमोला को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार अवार्ड से नवाजा, टिहरी गढ़वाल के रहने वाले हैं अनुराग

देहरादून। केंद्रीय विद्यालय ओएनजीसी के 11वीं कक्षा के छात्र अनुराग रमोला को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार अवार्ड से...

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मोदी सरकार पर बोला हमला, कहा उत्तराखंड में सरकार बनी तो 500 से कम में देंगे घरेलू गैस...

देहरादून। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि महंगाई, बेरोजगारी पर मोदी सरकार मौन...

बेस अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव बुजुर्ग की मौत

श्रीनगर गढ़वाल। राजकीय मेडिकल कॉलेज श्रीनगर के बेस अस्पताल में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि होती जा रही है। अभी तक चिकित्सालय...

बड़ी खबर। यमकेश्वर विधानसभा चुनाव मे शांति भंग करने के आरोप में थाना लक्ष्मझूला ने काटा 8 पार्टी कार्यकर्ताओ का चालान

यमकेश्वर/ लक्ष्मझूला। यमकेश्वर विधानसभा चुनाव में अभी नामांकन नही हुए है, और पार्टी कार्यकर्ता आपस मे ही भिड़ने लगे हैं। क्षेत्र में शांति व्यवस्था...

जोमेटो के गिरते भाव से निवेशको को 26000करोड़ का नुक्सान , पेटीएम के भी कम हुए शेयर

दिल्ली। ऑनलाइन फ़ूड डिलीवर करने में जोमेटो सबी पसंद बना था। लेकिन अब यह घाटा झेलने को मजबूर है।  जुलाई 2021 में सूचीबद्ध...

पार्टियों की सूची के बाद नामांकन में रफ्तार, रायपुर विधानसभा से उमेश शर्मा काऊ भी पहुंचे नामांकन भरने

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के चलते सभी पार्टी अपने प्रत्यशियो की लिस्ट जारी कर चुकी है जिसके बाद प्रत्याशियों के नामांकन भरने का...

अवैध शराब की तस्करी करते हुए एक व्यक्ति को जनपद रुद्रप्रयाग‌ पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार

रुद्रप्रयाग। नशीले एवं मादक पदार्थों की तस्करी पर अंकुश लगाये जाने हेतु पुलिस अधीक्षक रुद्रप्रयाग आयुष अग्रवाल द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम...

खुलासा। अमेरिका के अफगान में छूटे हथियार पकिस्तान को बेच रहा तालिवान

कश्मीर। पाकिस्तानी के आतंकी गिरोह अपने को मजबूत व दहशत फैलाने से कभी चुकते नहीं है। अब खुद को मजबूत बनाने के लिए पाकिस्तानी...

नहीं थमी बारिश और बर्फबारी, प्रदेश में मौसम का सितम जारी

उत्तराखंड। पिछले दो-तीन दिनों से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। मैदानी क्षेत्रों में बारिश और पहाड़ी इलाकों में लगातार बर्फबारी हो रही...