उत्तराखण्ड जन सम्पर्क मण्डल श्याम विहार न कवि सम्मेलना आगाज का दगड़ि मनै उत्तराखण्ड स्थापना दिवस

उत्तराखण्ड जन सम्पर्क मण्डल श्याम विहार न कवि सम्मेलना आगाज का दगड़ि मनै उत्तराखण्ड स्थापना दिवस।

लिखवार श्री दिनेश ध्यानी:  नै दिल्ली 9 नवम्बर, 2019 खुणि उत्तराखण्ड जनसम्पर्क मण्डल न 19 वों उत्तराखण्ड राज्य स्थापना दिवसै अवसर परैं विराट कवि गढ़वाळी-कुमाउनी कवि सम्मेलन को आयोजन कार्तिक गार्डन, श्याम विहार फेज-1 म कैरि। ये अवसर परैं उत्तराखण्ड राज्य का बान अपणां प्राणों की आहुति देण वळा शहीदों का चित्रों की प्रदर्शनी बि लगये गे अर कवियों समेत सब्बि लोगोंन शहीदों तैं श्रद्धासुमन अर्पित करीन।

संस्था का अध्यक्ष श्री मोहन सिंह जैतवाल जीन अपणा सम्बोधन म बोलि कि हमतैं राज्य शहीदों का बलिदान का कारण मीलि अर हमुतैं वों शहीदों को बलिदान नि भुल्यू चयेणों। कवि सम्मेलन का संचालन कर्दा उत्तराखण्ड लोक भाषा साहित्य मंचा संयोजक अर वरिष्ठ साहित्यकार श्री दिनेश ध्यानी न बोलि कि अमणि हम उत्तराखण्ड राज्य स्थापना दिवस मनौणा छंवा पण सोचा धौं कि हमुतैं क्य मीलि? उन्नीस साल बाद बि पहाड़ जन्या तनि छन। रोजगार अर शिक्षा का हाल पैलि से बुरा हूण लग्यां छन, स्वास्थ्य सेवाओं का हाल पूरा प्रदेश म भौत खराब छन पण पहाड़ म त क्वी पुछण वळु नीं।

दिल्ली म गढ़वाळी, कुमाउनी, जौनसारी भाषा अकादमी खुलिग पण उत्तराखण्ड सरकार अज्यों बि हमरि भाषाओं तैं मान नि देणी चा। यु स्वचण वळु विषय चा हम सब्यों का खातिर। साथ ही दिल्ली म गढ़वाळी, कुमाउनी भाषाओं तैं संविधानै आठवीं अनुसूची म शामिल कना खातिर प्रयास होण लग्यां छन यीं दिशा म तमाम संगठन अर भाषा प्रेमियों तैं अगनै आण होलु।

ये अवसर परैं राखी धनाई तैं डिजिटल मीडिया का क्षेत्र म अपणि भाषा का वास्ता काम कना खातिर डिजिटल मीडिया सम्मान से नवजे गे। राखीन बि बोलि कि हमरि भाषा हमरि पछ्याण चा हमतैं गढवाळी, कुमाउनी, जौनसारी भाषाओं तैं अगनै बढौंणा खातिर जतन कर्यों चैंद।

ये कवि सम्मेलन का सूत्रधार भुला प्रदीप सिंह रावत खुदेड न सब्बि कवियों को आभार व्यक्त कैरि अर मंचा महासचिव श्री मुकेश डबराल, उपाध्यक्ष श्री जिजय सिंह गुसांई कोषाध्यक्ष श्री लक्ष्मण जीना अर निरीक्षक श्री महावीर पटवाल समेत कै पदाधिकारियों अर सदस्यों न कवियों तैं पुष्पहार मानपत्र अर एक पौधा भेंट कैरिकि सम्मानित कैरि।

मंचासीन कवियों न हर विधा परैं कविता पाठ कैरि कि माहौल तैं खुशगवार बणै दे। यी कारण चा कि द्वी राउंड कविता पाठ होणा बाद बि लोग हौरि सुणणा खातिर बुना छया लेकिन देर होणा खातिर कवि सम्मेलन तैं पौणे आठ बजि सम्पन्न कन पोड़ि। सर्वश्री ललित केशवान जी, पयाश पोखड़ा जी, चन्दन प्रेमी जी, दिनेश ध्यानी जी, ओमप्रकाश आर्य जी, नीरज बवाडी जी, गिरीश भावुक जी, जगत कुमाउनी जी, वीरेन्द्र जुयाळ उपरि जी, अनूप रावत जी, सन्तोष जोशी जी, भुवन घुगत्याळ जी समेत कै कवियों न अपणि रचनाओं को पाठ कैरि। श्रोताओं कवियों कि कविताओं को खूब आनन्द ल्हे। यूके टाइम्स वीडियों बिटिन श्रीमती यशोदा जोशी अर दीपक जोशी जीन बि सिरकत कैरि।

ये अवसर परैं ऐडवोकेट सत्यापाल मलिक उपमहापौर, साउथ दिल्ली बि उपस्थित छया। वोंन कवि सम्मेलन को भरपूर आनन्द ल्हे अर उत्तराखण्ड जन सम्पर्क मण्डल श्याम विहारा कि समूची कार्यकारिणी की प्रशंसा कै अर बोलि कि हम हर मौ मदद कना खातिर तैयार छौं यन संगठन भौत कन छन जो चुपचाप समाजा खातिर काम कना छन।
उत्तराखण्ड जन सम्पर्क मण्डल श्याम विहार भौत भला कारिज कनौं चा। हमरा पहाडा विलुप्त होंदि थाती की रखवाळी का खातिर संगठन न एक संग्रहालय ख्वल्यों चा। जै म हैळ, जू, निसुडू से ल्हेकि दथड़ा, बंसुलु, जू, नाडु, छतळा अर हर प्रकारा हमरा काश्ताकार अर पुरण जमाना म काम औण वळा हमरा घर गौं की चीज बस्त धरी छन। सैद दिल्ली म उत्तराखण्ड जन सम्पर्क मण्डल अकेलि संस्था चा जो यीं दिशा म काम कनी चा।

अपणि भाषा, संस्कृति अर सरोकारों का प्रति लगातार अर हर क्षेत्र म काम कना खातिर हम उत्तराखण्ड जन सम्पर्क मण्डल श्याम विहार कि समूची कार्यकारिण तैं भौत,भौत बधै अर शुभकाना देंदा। अर उम्मी चा कि औण वळा समया म बि यो संगठन यनि सजग रालु अर हौरि बि जोश अर उत्साह का दगड़ि काम कारलु।

कवि सम्मेलन को संचालन श्री दिनेश ध्यानी न कैरि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *