दुन्या घूमण छोड़ी कन, यख ये पहाड़ी गौं मा अंदीन, दिल्ली अर बंगली सैलाणी, डांडी कांठ्यूं बरफ मा कर दन अठखेली

ये पहाड़ी गौं की अनूठी खूबसरती अर सुन्दरता बंगली अर दिल्ली क सैलाणियूं तै बार बार यख बुलांद। उत्तराखण्ड क पौड़ी जिला क एक छ्वट्टू सी गौं खिर्सू अपरी रौतेळी डांडी कांठी अर प्राकृतिक सुंदरता सैलाणियूं की मन मा रच बस जांदं। ये छ्वट्टू सी गौं मा बांज, देवदार, कुळैं बुरांश क डाळू बीच चखुलू च्वींचांट सुणंन कुणी मिलदू। यख ऐकन सैलाणी अजकली बगत मा ह्यूं पड़न से चमचमादी डांडी काठंयू तै टक्क लगै कन देखी सक्यांद। यख बटी सुर सुर चलदी हवा, अर जुनख्यळी रात मा चमकदू हिमालय की ज्वा छटा दिखणा मजा च वा कखी नी च। यख रैवासी मोहन सिह न बतै कि हर साल यख बगंली अर दिल्ली सैलाणी घूमण खातिर उंक लम्बी पंगत लगीं रंद। ये से स्थानीय रैवास्यूं तै भी द्वी रोजगार मिल जांदूं। अगर सरकार यीं जगह मा होर सुविधा दे द्याव त यख भी पर्यटन तै होर फैदा मिललू।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *