उत्तराखंड सरकार का दावा, प्रदेश में खाली हैं 7000 आइसोलेशन और 2500 से अधिक ऑक्सीजन सपोर्टर बेड, आज रिकार्ड 3012 कोरोना पाॅजिटिव मरीज, 27 की मौत

देहरादून। उत्तराखंड में कोविड संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच प्रदेश सरकार ने 7000 से अधिक आइसोलेशन बेड और 2500 से अधिक सपोर्टर बेड खाली होने का दावा किया है। साथ ही रेमडेसिविर इंजेक्शन की आपूर्ति जल्द से जल्द किए जाने का आश्वासन दिया है। प्रभारी सचिव पंकज पांडे ने कहा कि कोविड की रोकथाम के लिए प्रदेश में पर्याप्त सुविधाएं हैं। वहीं आज 3012 रिकार्ड कोविड के पॉजिटिव मरीज प्रदेश में पाए गए हैं। वहीं कोरोना से 27 मरीजों की मौत और 734 लोग ठीक होकर घर गए हैं। राज्य में वर्तमान में कुल 21014 यानि इकीस हजार 14 पाॅजिटिव केस हैं। ठीक होने वाले मरीजों का प्रतिशत करीब 80.21 प्रतिशत है।

करीब 16 लाख को लगी वेक्सीन
प्रभारी सचिव के मुताबिक सात जिलों में कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। इसमें देहरादून में सबसे अधिक 44, नैनीताल में 26, पौड़ी में 3 उत्तरकाशी में 3 और ऊधमसिंह नगर में एक कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। प्रदेश में अभी तक 1 लाख 88 हजार 900 हेल्थ केयर वर्कर्स को टीका लगाया जा चुका है। इसमें 1.79 लाख फ्रंट लाइन वर्कर्स शामिल हैं। कुल 15.95 लाख से अधिक लोगों को टीका लगाया जा चुका है। प्रभारी सचिव ने वैक्सीन की प्रदेश में कोई कमी न होने का दावा किया और कहा कि अभी तीन लाख के करीब वैक्सीन उपलब्ध है। प्रदेश में कुल सक्रिय मरीजों की संख्या 18864 हो गई है। लगभग 13500 मरीज होम आइसोलेट हैं और करीब 5000 मरीज विभिन्न अस्पतालों में हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस समय 7000 से अधिक आइसोलेशन बेड, 2500 से अधिक ऑक्सीजन सपोर्टर बेड, 363 आईसीयू बेड और 463 वैंटिलेटर खाली हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *