केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे 20 साल पहले गोद लिए अपने बेटे की शादी में

नई दिल्ली। लगभग 20 साल पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में राजनाथ सिंह ने पिता को खोने वाले एक प्रतिभाशाली दलित युवा बृजेंद्र की शिक्षा की ज़िम्मेदारी ली थी। 20 साल बाद अब उसकी शादी हुई, जिसमें केंद्रीय मंत्री शामिल हुए।

शादी उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के उसके गांव में हुई। यह बात 2002 की है जब बृजेन्द्र ने आठवीं कक्षा की परीक्षा में टॉप किया था और तब उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह ने यह जानने के बाद कि उसके पिता का निधन हो गया, उसकी शिक्षा की पूरी जिम्मेदारी ली थी।

बृजेन्द्र को राजनाथ ने उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री के कार्यकाल में गोद लिया था। उन्होंने साल 2000-2001 के दौरान सैदपुर नगर के वार्ड 11 मदारीपुर की अनुसूचित जाति की सुशीला देवी के प्रतिभाशाली बेटे बृजेंद्र कुमार का बेहतर भविष्य बनाने के इरादे से गोद लिया था।
बृजेन्द्र की शादी में शिरकत करने पर खुशी जताते हुए सिंह ने शनिवार को एक ट्वीट में कहा, ”जब मैं उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री था तो एक बच्चे की पढ़ाई लिखाई की ज़िम्मेदारी मैंने उठाई थी। वह बच्चा पढ़ लिख कर डॉक्टर बना। आज उसी डा. बृजेंद्र के विवाह समारोह में उसके घर जाकर शामिल हुआ और उसे अपनी शुभकामनाएं दीं। मेरे लिए निश्चित रूप से यह एक बड़े संतोष और आनंद का क्षण है

इस बात का पता बहुत कम लोगों को ही था। आसपास सहित अधिकतर लोग इस रिश्ते से अंजान थे। 27 फरवरी को आयोजित उसकी शादी में रक्षामंत्री के आने का कार्यक्रम के बाद उनका संबंध जगजाहिर हुआ। सबकी तरह डा. बृजेंद्र की होने वाली दुल्हन प्रीतिका व और उनके घरवालों को भी इस संबंध का पता चला। बकौल प्रेमचंद डा बृजेंद्र ने कभी जाहिर नहीं होने से दिया कि रक्षामंत्री से उनका संबंध है। वहीं उनकी बहू प्रीतिका ने अंग्रेजी से एमए एवं बीएड कोलकाता यूनिवर्सिटी से की है। अब वह सिविल की तैयारी में कर रही हैं।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *