वियतनाम मा फस्यां छन होटल मा काम कना खातिर जयां उत्तराखण्ड द्वी नौन, भारत सरकार कुणी मदद कना खातिर लगाई धाद

उत्तराखण्ड टिहरी जिला क भिलगंना प्रखण्ड मा घुत्तू मेडू- सिदंवाल गॉव क द्वी छ्वारा वियतनाम मा फंस्या छन। उ जै होटल मा नौकरी करद छ्यायी, मालिक न उतैं बिना तनख्वा दियां होटल बंद करी द्यायी। ये कारण उंक अब अपर देश बौडण भी मुश्किल ह्वे ग्यायी। विदेश मा परेशान छ्वारों न भारत सरकार बटी मदद की धाद लगाणा छन।
भिलंगना प्रखण्ड मा गढ- सिदंवागॉव रैवासी सूरत सिंह नौन वैशाख सिंह अर मानवेन्द्र सिंह नौन पूर्ण सिंह साल 2018 मा ची मिन्ह सिटी वियतनाम मा भारतीय रेस्टोरेंट मा नौकरी कना खातिर गे छ्यायी। आठ नौ महीना काम कना बावजूद मालिक न उतैं तनख्वा नी द्यायी अर अब होटल बंद करी कन लापता ह्वे ग्यायी। बतये ग्यायी कि द्वी नौनू वीजा भी सितम्बर अर नवम्बर 2018 मा खतम ह्वे ग्यायी, जै कारण उ कखी भी काम नी कर पाणा छन। विततनाम मा वीजा रेग्युलराइंजिंग कुणी पॉच अमेरिकन डॉलर प्रति दिन क पेनॉल्टी लगयाणा च, जै कारण द्वीयूं पर आज तकन 2400 डॉलर पेनाल्टी ह्वे ग्यायी।
घर बौडण से लेकन हवाई जहाज टिकट होर खर्च कुणी उतै तीन हजार डॉलर की जरूरत च, लेकिन रूप्यां अभाव मा द्वी छ्वारा वखी फंस्या छन। परेशान छ्वारों न जन कन करी कन वियतनाम मा भारतीय दूतावास बटी सम्पर्क करी कन अपरी ब्यथा सुणायी तब दूतावास न भारतीय विदेश मंत्रालय कुणी रिपोर्ट भेजी।

Loading...

मंत्रालय न क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी से द्वी युवकू क परिजनू की आर्थिकी स्थिति अर अन्य जानकारी मंगी च, अब उतें जल्द अपर देश बौड़ण की उम्मीद जगीं च। डीएम सोनिका न बतै कि 17 मई कुणी पासपोर्ट कार्यालय बिटी मिलीं चिठ्ठी आधार पर जॉच करये ग्याया त वियतनाम मा फंस्यां सूरत सिंह घर मा दान मा बाप घरवळी अर तीन नादान बच्चा छन। वखी मानवेन्द्र सिंह क घऽर मा भी बूढ बुढ्या ब्वे बाबा, घऽरवळी अर द्वी नाबालिग बच्चा छन।
द्वी परिवारू की आर्थिक स्थिति काफी नाजुक च। रिपोर्ट पासपोर्ट कार्यालय कुणी भेज दिये ग्यायी। क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ़ऋषि अंगारा बुलण च कि वियतनाम मा फंस्या युवकू तै बौडाणा खातिर वितयनाम न विदेश मंत्रालय बटी यूंक आर्थिक रिपोर्ट मंगी च। डीएम टिहरी बिटी मिली रिपोर्ट मंत्रांलय कुणी भेजयाली। एथर कार्यवाही विदेश मंत्रालय ब्टि हूणी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *