सुन्दर पहलः विरान पड़यूं गौं तै आबाद कना छन विजय सेमवाल, गौं मा जगी स्वरोजगार की आस

सुविधा अर संसाधनू क अभाव मा आज गौं क गौं खाली ह्वे गेन। आज पलायन पूर पहाड़ तै धिवड़ू सी जणी चाटी ग्यायी। वखी लगभग तीन दशक बटी वीरान पड़यू रूद्रप्रयाग जिला क बर्सू गॉव क विजय सेमवाल बौड़ी कन अपर गौं ऐ गेन अर पिछल द्वी साल बटे अपर गौं तै अफीक संवरणा मा लग्यां छन। विजय अपर पुरखू अपर जमीन 20 नाली (आठ बीघा) जमीन मा भुज्जी ब्वे अर लगै कन साल मा द्वी लाख से ज्यादा कमाणा छन। यन देखी कन गौं क होर मवस भी गॉव बौड़ना कुणी अपर मन तै राजी कना छन। विजय सेमवाल मेहनत अर लगन से उत्साहित ह्वे कन जिला प्रशासन भी गौं तै दुबर आबाद कना कू प्रयास मा जुट ग्यायी। गौं मा ही सर्किट हाउस क बणाण क भी प्रस्तावित च। ये कुणी 15 नाळी जमीन छॉंटी लिये ग्यायी।
जिला मुख्यालय रूद्रप्रयाग बटी साढे चार किमी0 दूर बस्यूं बर्सू गॉव तीन दशक पैली तकन धनपुर पट्टी क सबसे ज्यादा विकसित गौं मा सुमार हूंद छ्यायी। यख रैवासी बुज्जी से लेकन नाज कमाण मा सबसे अगड़ी छ्यायी। लेकिन, एक बगत यन आयी कि जब गांव क सब्बी 65 परिवार एक एक करी कन उंदारी कुन बाट लगी गेन सैण मा ऐकन शहरू मा रैवास कन लगी गेन।
हालांकि, गौं म तब सड़क छोड़ी कन, बिजळी पाणी, सिचैं, सब्बी धाणी सुविधा छेयी। यी ना बलकण गौं मा रयां तीन चार मवसूं खातिर भी साल 2011 मा वख सड़क भी बणी गे छेयी। येक बावजूद भी गौं बटी जू सड़क बाना करी कन उंद बसी गे छ्यायी उं परिवारू भी दुबर बौड़ण की नी स्वाची। लेकिन द्वी साल पैल् विजय सेमवाल न दुबर अपर गौं मा बौड़ी कन ऐन अर बुज्जी बूण अर लगाण शुरू करी। ये दगड़ी वखी मुर्गी पालन अर गौ पालन काम भी शुरू करी। ये से अच्छी कमैं हूण लगी त विजय तै देखी अर प्रेरित ह्वे कन गांव रैवासी हरीश सेमवाल अर दिनेश सेमवाल भी अब अपर गौं बौडण की तैयरी मा छन।

ये बाबत जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल बतै कि  गांव मा बुनियादी सुविधा जुटाण  खातिर प्रशासन लगातार प्रयास कना च। गॉंव मा ही सर्किट हाउस बणवाण की तैयरी भी चलणी च। ये खातिर जिला प्रशासन न राजस्व विभाग बटी जमीन चयन करी कन प्रस्ताव शासन तै भेज दिये ग्यायी।  विजय सेमवाल न बतै कि  गॉव मा पलायन की खैरी उं तै भितरी भीतर कोरी कन खाणा रायी, आखिर मा फिर गॉव तै दुबर आबाद कना कू निर्णय ल्यायी, अर वख भुज्जी बूण अर लगाण शुरू करी। जैविक तरीका से बुयीं अर लगयीं भुज्जी बजार मा खूब बिकणी। अजों उंक परिवार रूद्रप्रयाग शहर मा ही रैवास कना च। हरीश सेमवाल बतै कि गॉव मा खेती की बौत संभावना छन। ये तै देखीकन अब उ भी अपर पुश्तैनी जमीन तै आबाद कना की तैयरी कना छन। वखी, दिनेश सेमवाल बुदन कि  विजय न घऽर बौड़ी कन यी साबित कर द्यायीकि  गॉव मा भी अपर भविष्य तै बणै सकदा अर अपर गौं तै संवारी सकदों। विजय से ही प्रेरित ह्वे कन उ भी परिवार समेत गांव मा ही बसण की तैयरी मा छन। 
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *