सामुदायिकता मिसाल बणी यमकेश्वर कू यी गॉव जैन अपर मेहनत अर लगन से बणायी, सड़क और पुलिया

यमकेश्वर क्षेत्र बूगा ग्राम सभा बीरकाटळ गॉव भी एक आम जनमानस गॉव छ। यख सड़क बड़ी समस्या छेयी, जब भी क्वी बीमार ह्वे जांद छ्यायी तब वै तै गॉव लोग कंधा मा लेकन मुख्य सड़क मार्ग तकन लांद छ्यायी। या कहानी हर दूसर तीसर मैना मा दुहरे जांद छेयी, सै सै करी कन लोग यख बिटी भी पलायन कन लगी गीन, अब जू लोग यख रैवास कना छ्यायी उंक समणी सड़क समस्या हर बगत समणी ऐकन खड़ी ह्वे जांद छेयी। उत्तराखण्ड राज्य बणी लोगू आस जगी कि अब लखनऊ नी जाण पड़ल हमर काख मुड़ अब राजधानी बणी ग्यायी जबकि जिला मुख्यालय हमर मुण्ड ऐछ च, अब काख मुड़ जब भी हत्थ डळला त काम ह्वे जाल, लेकिन या बात सब्ब बुन्या बात मा शामिल ह्वे ग्यायी। लोग अब सिस्टम से धाद लगाण शुरू करी, जनप्रतिनिधियूंत कन बात पौंछी, कुछ लोगू बौग मारी कुछ लोगू न एक द्वी बार कोशिश करी, और कुछ जनप्रतिनिधियूं कोशिश कामयाब ह्वे भी छन, लेकिन वा कोशिश सिस्टम ऐथर फेल ह्वे ग्यायी।

     सिस्टम अर जनप्रतिनिधियूं कोशिश बीच बूंगा ग्राम सभा वीरकाटळ गॉव लोग सार लग्या रैन कि ये साल त ह्वाल कुछ काम लेकिन दिन बितीन, मैना बीति बीती साल, अर बरसों बीति गीन छन वनी हाल। ये बीच तबरी गॉव एक फौजी फौज बिटी रिटायर्ड ह्वायी त वैन द्याखी कि मी जब फौज मा भर्ती ह्वे छ्यायी तब भी इनी हाल आज जब रिटायर्ड ह्वे ग्यों तब भी यख इनी हाल। कुछ दिन तकन त फौजी अपर फौज रिटायर हूण मा मस्त रायी, फिर अपर ठीकण बणै कन वै तै या बात चुभणा रायी कि आखिर सडक समस्या कनक्वे दूर ह्वेली। वै तै जोश आण शुरू ह्वे ग्यायी। भल घड़ी क तबरी सोशल मीडिया जमनू आयी वैन वख बिटी अपर खैरी लिखण शुरू करी, सोशल मीडिया मा सब्यूं तै बात भली लगी, शुरू शुरू मा फौजी बात तै लोग सुणन लगी गीन।

लेकिन जब फौजी न मुखर ह्वेकन सिस्टम ढोल पोल खुलण शुरू करी त जनप्रतिनिधी अर उंक च्याला चांठियूं तै या बात नखरी लगण शुरू ह्वे ग्यायी। फौजी इने गॉव ह्वाळू दगड़ी पत्राचार, कना रायी। एक दिन यमकेश्वर विधायक ऋतू खंडूरी उंक गॉव मा गीन, उंकी समस्या सूणी अर बरात घर अर पुलिया बाबत ब्वाल कि यी समस्या समाधान करे जाल, ये आश्वासन से गॉव लोगू आस जगी ग्यायी। आश्वासन हिसाब से विधायक अपर तरफ बिटी प्रयास करी अर धन स्वीकृति भी करे द्यायी लेकिन ये बीच फिर सिस्टम ऐ ग्यायी अर उ रूप्या गॉव तकन नी पौंछी, जन कि गॉव रैवासी बतै करदन।

अब 2019 मा त्रिस्तरीय पंचायत चुनौ ह्वेन त फौजी न भी क्षेत्र. पंचायत टिकट ले ल्यायी, अर लोगू कुणी ब्वाल कि सड़क अर पुलिया मि बणवोलू। चुनाव मा जनता तै फौजी पंसद आयी अर वैक नाम पर क्षेत्र पंचातय बूगा क्षेत्र पंचायत सदस्य बणै द्यायी। शुरू शुरू मा त फौजी तै फौजी आदत हिसाब से उन स्वाच कि काम ह्वे जाल लेकिन जब उन सिस्टम हिसाब द्याख त समझ ऐ ग्यायी कि यी दुन्या मा भावना ना बल्कण चतुरै से काम चलद। लेकिन उ अपर लोगू दगड़ी वादा खिलाफी नी कन चांद छ्यायी, लोगू भारी भरोसू तै तुड़न भी नी चांद छ्यायी, सवाल यी छ्यायी कि म्यार सड़क बणाण कुणी बुल्यू छ कनमा बणली, अब बगत बीतत ग्यायी त क्वी समाधान नी हूण देखी कन फौजी न फिर लोगू दगड़ी बातचीत कन शुरू करी।

 

बुल्दन बल जै गॉव मा दान सयण लोग हुंदीन, अगर उंकी सल्ला मसौरा लिये जाव त रस्ता भी मिली जांद। मार्च मैना कोरोना महामारी चलद लॉकडाउन ह्वे ग्यायी, फौजी भी गॉव मा ही छ्यायी, अब घर बिटी भेर निकळण बंद ह्वे ग्यायी त उन सड़क बणाण विषय मा गौ रैवासियूं दगड़ी चर्चा करी। ये मा गॉव एक द्वी बुजुर्ग रैवासियूं न ब्वाल कि जब पैल बजट नी मिलद छ्यायी त हम लोग मिलीकन रस्ता अफीक बणांद छ्यायी लेकिन जब बिटी सरकार बिटी रूप्या आण शुरू ह्वेन गॉव मा सामुदायिकता भावना खतम ह्वे ग्यायी, अगर हम लोग वीं सामुदायिकता भावना तै फिर बिजाळी सकदों त हम मिली कन अपर गॉव सड़क बणै सकदों। या बात फौजी मन मा समै ग्यायी, बस फिर क्या छ्यायी गॉव दगड़यों दगड़ी तालमेल बणायी अर सड़क बणाण काम शुरू करी द्यायी।

लगभग कड़ी मेहनत बाद गौं लोगू मिलीकन दुपहिया गाड़ी जाण लैक बाटू बणै द्यायी, लेकिन बीच मा गदन छ्यायी वैमा पैल एक पुलिया छेयी ज्वा 2014 मा आपदा मा टूट गे छेयी। जून मैना मा पुलिया मा गॉव लोगू रूप्या कठ्ठी करी कन श्रमदान से पुलिया बणाणा काम शुरू करी, येक नेतृत्व भी फौजी अर उंक दगड़ गॉव दान सयण लोग कना छ्यायी, अब उंकी मेहनत रंग लायी पुलिया मा लेटर पड़ी ग्यायी। सामुदायिकता यींक भावना न लोगू मा आपसी प्रेम सहयोग की भावना त भरी छ, वैसे बड़ू जू सालो बिटी ज्वा परेशनी सड़क अर पुलिया की छेयी वा दूर ह्वे ग्यायी।

फौजी न जब काम शुरू करी तब बिटी सोशल मीडिया मा रोज अपर गॉव रैवासियूं हौसला बढाणा खितर कभी लाईव, कभी फोटो त कब्बी वीडियो डाळी कन चंट चितवळ कन शुरू करी, जैसे गॉव नाम खूब चमकी, लेकिन सत्ता मा बैठ्या कुछ लोगू तै या बात नागवार गुजरी अर उंन येकी दूसर तरफ बिटी बुरै कन शुरू कर द्यायी, किलैकि अब नाक सवाल द्वी तरफ बिटी ह्वे ग्यायी, इनै फौजी अर वैक दगड़या बिलचा फौळ, गैंती लेकन पत्थर फोड़ी कन अर माटू खणीकन सड़क बणाणा रैन उने कुछ लोग उंतै हतोत्साहित कना प्रयास कना रैन, लेकिन गॉव नै ज्वान दगड़या अपरी ताकत तै बाटू बणाणा मा लगाणा रैन।

आज गॉव मा सड़क अर पुलिया गॉव लोगू सामुदायिकता कारण बणी कन तैयार ह्वे ग्यायी, यी सब्ब रिटायर्ड फौजी अर क्षेत्र पंचायत बूंगा नेतृत्व अर गॉव दान सयण लोगू अनुभवन युवा जोश बदौलत पूर ह्वे ग्यायी। वीरकाटळ गॉव रैवासियूं न सीखायी कि अगर लोगू मा एकजुटता ह्वाव त क्वी काम असंभव नी छ जै तै करे नी सक्याव। येसे प्ररेणा लेकन वीरकाटळ पडौसी गॉव मंगलया अर मुसराळी गौं लोगून भी अपर अपर यख बाटू बणै कन एकता मिसाल पेश करी।

हरीश कण्डवाल मनखी कलम बिटी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *