आखिरी ये कारण आमजनमानस जिलाधिकारी छन डीएम मगेंश घिल्डियाल, यी द्याखो लोगू पुंगड़ मा जैकन लगाणा छन हळ

वन दिखणा मा आंद कि क्वी भी बड़ू अधिकारी अपर घमंड अर व्यवहार कारण हमेशा छुयूं मा रै करद। लेकिन सब्बी यनी ह्वाव वन या बात भी जरूरी नी च। यूं नौकरशाही लोगू मनन एक मनखी यन भी च जू ठेठ अपर गढवळी मिजाज कुणी जणे जांद अर नै छोळी नै छरोळी कुणी प्रेरणादायी आईएस अफसर अर पहाड लोगू जिकुड़ी मा बस्यूं रूद्रप्रयाग मगेंश घिल्डियाल। अजांं तकन जू भी उन काम करी अर उंकी उपलब्धि दगड़ी कामयाबी हासिल करीं लेकिन वैक बाद भी घमंड उं पर नी आयी। आम जनमानस दगड़ी उंक व्यवहार ही उंते नौकरशाह बीच वा खास जगह दे करदू जै कारण उंसे हर आदमी अफू से जुड़यूं महसूस करदू।
यी कारण च कि पत्रकारिता जगत अर सत्ता क गलियारा मा जू उत्तराखण्ड क द्वी आईएस अफसर अधिकारी तै भविष्य क राजनीतिक मने जांद अर उंक काम तै ये नजरिया से दिखे जांद, उं द्वीयूं मनन एक छन मंगेश घिल्डियाल। पिछल दिन महिला दिवस पर उरयूं कार्यक्रम मा अयां डीएम मंगेश घिल्डियाल चिरबटिया पौंछंया छ्यायी, ये दौरान उनं जै कार्यक्रम मा सबसे ज्यादा सुर्खिया बटोरीन उ छ्यायी पुगंड़ पर हळ लगाण। बतयाणा च कि उन ये कार्यक्रम मा जैकन अपर हत्थ न हळ पकड़ी अर लगाण शुरू करी द्यायी, दूसर तरफ उंकी घऽरवळी न भी जनानियूं दगड़ी बिजवाड़ बूण शुरू करी।

Loading...


जब डीएम तै आम जनमानस न यी सब्ब द्याखी तै डीएम मंगेश घिल्डियाल तै अपर करीबी समझी अर उंक यी ठेठ पहाड़ी अंदाज देखीकन पुटग ही पुटग उंकी बडै़ कना रैन। येक बाद डीएम मंगेश घिल्डियाल अर उंकी घऽरवळी मटकी फोड़ प्रतियोगिता मा भी भाग ल्यायी अर सब्यूं लोगू ते अपणयास कू अहसास करायी। यन लगदू कि या वा खूबी च जै कारण डीएम घिल्डियाल क बागेश्वर मा स्थानान्तरण हूण बाद उंक ट्रांसफर रूकवाण खातिर तब्बी लोग सड़क पर उतरी कन ऐ गे छ्यायी। अब हम इथगा ही बोल सकदा कि ये जिला मा आण ह्वाळ कत्ती सालू मा कत्ती जिलाधिकारी आल, उ कुणी डीएम मंगेश घिल्डियाल न लोगू दिल मा ज्वा जगह बणै याल शायद ही क्वी बणे पाल, उन जू रिखड़ा खींचयाल वै तै छ्वटू कर पाण संभव नी लगणू।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *