एक तरफ भैजी इथगा बड़ू प्रदेश मुख्यमंत्री, दूसर तरफ सग्गी बैणी मंदिर समणी चाय बिस्कुट बेची कन पळण कुटुमदरी पुटुग, बैणी तै आज भी हूंद रखड़ी नी बांध सकण पर मलाल

जैक मुम्मा अर भैजी बल कृष्ण वैकुणी के चीज कमी, या बात आज भी येक यनी भणजू अर बैंणी पर या बात सच्ची हूणी। नीलकंठ नजीक गौं भौन- कुठार रैवासी शशी देवी ज्वा भौन मंदिर समणी मा चाय दुकान खोली कन जत्रवें तै चाय बिस्कुट बेची कन अपर गुजर बसर कनी। या शशी देवी वन त आम जनमानस जणी च, लेकिन मैत बटी या यन परिवार से जुड़यूं जू परिवार आज पूर देश मा चर्चा मा च। जी हॉ हम बात कना छवां उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बैणी बाबत ज्वा आज भी चाय बिस्कुट दुकान खोली कन परिवार पळणी च।
मोहमाया अर घऽरबार छोड़ी कन जोगी बणन क्या हूंद या बात योगी आदित्यनाथ अर उंक परिवार से पूछो। गोरक्षनाथ पीठ जणी मंदिर मंहत अर पॉच बार सांसद अर अब मुख्यमंत्री अर भविष्य प्रधानमंत्री चेहरा हूण बाद भी उंक परिवार उनी हाल मा च जन पैल छ्यायी, जब योगी मंहन्त भी नी छ्यायी। योगी आदित्यनाथ जोगी बणन बाद एक बार घऽर बटी निकळी गेन त वैक बाद उ कब्बी बौड़ीकन घऽर नी ऐन।
आज जख एक बार क्वी विधायक सांसद अर मुख्यमंत्री बण जंदीन न उंक परिवार अर रिश्तेदारू यख भी खूब चखळ पखळ करवै दे करदनं वखी योगी आदित्यनाथ त्याग अर ईमानदारी क मिसाल पेश करदन। मुश्किल करी कन अपर जीवन बिताण ह्वाळी तीन बैण्यूं मनन सबसे कण्सी बैणी शशि जैक सुसरास नीलकंठ नजीक भौन गौं अर पयाल्स्यूं क्षेत्र की ईष्ट देवी भुवनेश्वरी देवी मंदिर समणी एक झुपड़ी मा चाय बिस्कुट दुकान मा अपर कुटुमदरी तै पळणी च। यन बतै दिवां कि योगी आदित्यनाथ की द्वी जठी बैणी त खूब खांद पींद घऽर मा छन पर या बैणी शशि थुड़ा मुश्किल अपर खैरी दिन तै निकळणा। शशि देवी बुलण च कि 27 साल पैल जब योगी आदित्यनाथ पंचुर गौ मा दगड़ मा रंद छ्यायी त सब्ब मिलीकन बार त्यौहार मंनांद छ्यायी।

Loading...


योगी बैणी शशि देवी बुलण च कि रक्षाबंधन क त्यौहार दिन हम तीनी बैणी चरी भाईयूं समणी बैठी कन रखड़ी बंधदी छेयी अर तब वै बदल मा समळौण द्याणा खातिर अज्जू ( अजय बिष्ट उर्फ योगी आदित्यनाथ ) हम कुणी यन बुल्द छ्यायी कि अजों त मी कुच्छ नी कमाणा छौं, लेकिन जब बड़ू ह्वे कन कमाण लगी जौल त सब्बी बैण्यूं तै समळौण मा खूब उपहार द्योलू। वखी, अजय बिष्ट उर्फ योगी आदित्यनाथ छ्वटू मा रखड़ी त्यौहार दि अपर पिता मनन रूप्या लेकन अपर तीनी बैण्यूं तै दींद छ्यायी। शशि बतांद कि रूप्या दीण बाद भुला अजय बिष्ट पिता इनै उनै जाण बाद उं दियां रूप्यों तै हम मनन मॉग लींद छ्यायी, यन बतांद बतांद गगळांद लग जांद। आज योगी आदित्यनाथ 27 साल पैल अजय बिष्ट नाम से जणे जांद छ्यायी। बैणी शशि बुलण च कि जब बटी अजय योगी बणी तब बिटी हमर मुखाभेट नी ह्वायी, अर तब्ब बटी हर रखड़ी त्यौहार पर भुला हत्थ पर रखड़ी नी बांध पाण मलाल हर साल रंद, लेकिन खुशी या च कि हमर भुला आज मुख्यमंत्री च अर वैक मेहनत अर लगन जनप्रिय हूण कारण मी तै पूर आश च कि एक दिन देश प्रधानमंत्री भी जरूर बणल।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *