Thursday, September 23, 2021
Home उत्तराखंड प्रीतम बोले ‘महंगाई डायन’ अब भाजपाइयों को ‘‘अप्सरा’’ सी नज़र आने लगी...

प्रीतम बोले ‘महंगाई डायन’ अब भाजपाइयों को ‘‘अप्सरा’’ सी नज़र आने लगी है

देहरादून। कांग्रेस ने देश के कई शहरों में पेट्रोल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक होने को लेकर केंद्र सरकार पर जनता को ‘लूटने’ का आरोप लगाया और कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम की जानी चाहिए।

चुनावी मोड पर चल रहे उत्तराखंड में भी इसको लेकर सियासत गरमाई हुई है। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा 2017 में हुए चुनाव में सत्ता में बैठे लोगों ने उत्तराखंड के लोगों से वादा किया था कि यदि डबल इंजन सरकार आई तो हम महंगाई को कम करने का कार्य करेंगे, लेकिन हालात बद् से बदतर हैं और महंगाई चरम पर है। जहां पेट्रोल 100 रुपये के पार और डीजल भी 95 रुपये पर पहुंच चुका है। रसोई गैस भी 400 रुपये से 1000 रुपये तक पहुंच चुकी है। जिस तरह महंगाई बढ़ रही है, उससे गरीब का जीना दूभर हो गया है।

प्रीतम बोले आज मोदी सरकार सिर्फ सत्ता की भूख मिटा रही है और कमरतोड़ महंगाई से 140 करोड़ देशवासियों की आय लूटती जा रही है। आज देश में पेट्रोल 100 रुपये के पार, खाने का तेल 200 रुपये के पार, रसोई गैस 850 रुपये के पार…मोदी सरकार सिर्फ बहाने बना रही है।

प्रीतम सिंह ने आरोप लगाया, ‘‘भाजपा सरकार ने ‘प्रजातंत्र की परिभाषा’ ही बदल दी है। जनता को महंगाई की आग में झोंककर आमजन की आमदनी को मोदी सरकार नोच रही है और बस, अपने धन्ना सेठ दोस्तों की सोच रही है। सच यह है कि ‘महंगाई डायन’ अब भाजपाइयों को ‘‘अप्सरा’’ सी नज़र आने लगी है।’’

प्रीतम बोले कांग्रेस-संप्रग सरकार से तुलना की जाए तो मोदी सरकार के सात साल के कार्यकाल में कच्चे तेल के दाम साल दर साल घटते गए और 140 करोड़ देशवासियों की जेब काटकर पेट्रोल-डीज़ल के दाम बढ़ते गए। उन्होंने कहा, ‘‘देश की जनता की ओर से मोदी सरकार को हम यही कहेंगे कि कीमतें कम करो या कुर्सी खाली करो।’’

RELATED ARTICLES

चकराता विधानसभा के इस गांव में 12 साल बाद पहुंची बस, ग्रामीण बोले जिलाधिकारी हो तो राजेश कुमार जैसा

देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार में विकास का पहिया गांव-गांव तक पहुंच रहा है। राज्य के दूरस्थ गांवों तक अधिकारी पहुंचकर जनता की समस्याओं...

राइंका हरबर्टपुर के दो छात्र कोरोना संक्रमितए अग्रिम आदेश तक विद्यालय बंद

विकासनगर। ब्लॉक क्षेत्र के राजकीय इंटर कॉलेज हरबर्टपुर के दो छात्रों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद विद्यालय को अग्रिम आदेश तक...

छात्र की मौत में शिक्षक छात्र समेत अन्य पर केस दर्ज

रुद्रपुर। एक निजी इंटर कॉलेज में छात्र की संदिग्ध अवस्था में मौत के मामले में एक छात्र व उसके साथियों समेत विद्यालय के शिक्षकों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चकराता विधानसभा के इस गांव में 12 साल बाद पहुंची बस, ग्रामीण बोले जिलाधिकारी हो तो राजेश कुमार जैसा

देहरादून। उत्तराखंड की धामी सरकार में विकास का पहिया गांव-गांव तक पहुंच रहा है। राज्य के दूरस्थ गांवों तक अधिकारी पहुंचकर जनता की समस्याओं...

25 सितंबर को आमने सामने होंगे भारत पाकिस्‍तान

नई दिल्ली। अमरीका के न्यूयार्क शहर में आगामी 25 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान सार्क विदेश मंत्रियों की बैठक होगी। इस बैठक...

आने वाले हैं अच्‍छे दिन, कोरोना से नहीं पड़ेगा डरना

वासिंगटन। संक्रामक रोग विज्ञान में संचारी रोगों की रोकथाम के स्तर की परिभाषाएं दी गई हैं। नियंत्रण का अर्थ है वैक्सीन जैसे जनस्वास्थ्य उपायों...

राइंका हरबर्टपुर के दो छात्र कोरोना संक्रमितए अग्रिम आदेश तक विद्यालय बंद

विकासनगर। ब्लॉक क्षेत्र के राजकीय इंटर कॉलेज हरबर्टपुर के दो छात्रों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद विद्यालय को अग्रिम आदेश तक...

छात्र की मौत में शिक्षक छात्र समेत अन्य पर केस दर्ज

रुद्रपुर। एक निजी इंटर कॉलेज में छात्र की संदिग्ध अवस्था में मौत के मामले में एक छात्र व उसके साथियों समेत विद्यालय के शिक्षकों...

कुमाऊं एवं गढ़वाल मंडल विकास निगम के धरने में गरजे धस्माना

देहरादून। अपनी 13 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले 9 दिनों से कार्य बहिष्कार व धरना प्रदर्शन कर रहे गढ़वाल मंडल विकास निगम व कुमाऊं...

उत्तराखंड की तीन वामपंथी पार्टियां मिलकर लड़ेंगी विधानसभा चुनाव

देहरादून। उत्तराखंड में आगामी 2022 के विधान सभा चुनाव में उत्तराखंड की तीन वामपंथी पार्टियां भाकपा, माकपा, भाकपा (माले) प्रगतिशील, धर्मनिर्पेक्ष और राज्य समर्थक...

अब आनलाईन बनेंगे दिव्‍यांगों के पास

देहरादून। ट्रेन में यात्रा करने वाले दिव्यांगों को रेल पास बनवाने के लिए अब रेलवे मंडल कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। दिव्यांगों की...

बंदरों को पकड़कर बाड़ों में रखने की मुहिम तेज

देहरादून। उत्तराखंड की वन्यजीव विविधता भले ही बेजोड़ हो, मगर वन्यजीवों का निरंतर गहराता खौफ मुसीबत का सबब भी बना हुआ है। बाघ, गुलदार,...

हिम तेंदुओं (स्नो लेपर्ड) की वास्तव में कितनी संख्या है

देहरादून। उत्तराखंड के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हिम तेंदुओं (स्नो लेपर्ड) की वास्तव में कितनी संख्या है, इस राज से पर्दा उठने के लिए...