उत्तराखंड में आयुष्मान सेवा पखवाड़ा की हुई शुरुआत

उत्तराखंड में आयुष्मान सेवा पखवाड़ा की हुई शुरुआत
Spread the love

निशुल्क जांच व आभा आईडी बनाने का मिलेगा लाभ: डॉ धन सिंह रावत

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म उत्सव पर प्रदेश में आयुष्मान सेवा पखवाड़ा की शुरुआत की गई है। जिसकी जानकारी प्रेदश के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत द्वारा दी गई। जिसके अंतर्गत प्रदेश भर में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर नि:शुल्क जांच की जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत द्वारा बताया गया कि आयुष्मान सेवा पखवाड़ा प्रदेश भर में 17 सितंबर 2023 से 02 अक्टूबर 2023 तक संचालित किया जाएगा। पखवाड़े के दौरान में प्रदेश के चिकित्सा इकाइयों में गैर संचारी रोग जैसे हाइपरटेंशन, डायबिटीज, स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, टी.बी. की निशुल्क जांच., आदि की जाएगी, साथ ही परिवार के पात्र सदस्य आयुष्मान कार्ड एवं आभा आईडी भी बनायी जा रही है। पखवाड़े के दौरान प्रत्येक विधानसभा में 10 रक्तदान शिवरों का आयोजन भी किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग का प्रयास है कि 18 वर्ष की आयु से अधिक व्यक्ति स्वयं को ई रक्तकोष में पंजीकृत कर 2लाख लोगों के पंजीकरण के टारगेट को सफल बनाये।

अंगदान जैसे पुण्य कार्य को बढ़ावा देने एवं जरूरतमंदों की मदद हेतु डोनेटर्स ऑर्गन डोनेशन पंजीकरण में पंजीकृत किये जाने के कार्य को भी किया जाएगा। दिनांक 17 सितम्बर से उत्तराखंड में शुरू इस पखवाड़े में प्रथम दिवस पर 107 शिवरों का आयोजन किया जा चूका है जिसके अंतर्गत 4739 डोनर पंजीकृत हो गए हैं।जिसमे से लगभग पहले ही दिन कुल 1767 रक्तदाताओं ने रक्तदान किया है। वर्तमान में आयुष्मान मेले के दौरान 14857 लोग स्क्रीनिंग हेतु हेल्थ एन्ड वैलनेस सेंटर पहुंचे हैं। आशा बहनों द्वारा घर घर जा कर आम जनमानस को हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर में स्क्रीनिंग हेतु जागरूक किया जा रहा है । साथ ही उन्हें गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग के लिए बढ़ावा दिया जाएगा।

डॉ धन सिंह रावत द्वारा अवगत बताया गया कि आयुष्मान सेवा पखवाड़ा केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की एक व्यापक राष्ट्रव्यापी स्वास्थ्य सेवा पहल है जिसका उद्देश्य देश के हर गांव और कस्बे तक स्वास्थ्य सेवाओं को पहुंचाना है। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य केंद्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में आयुष्मान मेलों का आयोजन हर गांव व पंचायत में किया जाएगा। आयुष्मान ग्राम सभा के दौरान ऑर्गन डोनेशन की भी शपथ लेने का कार्य किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा बताया गया कि आयुष्मान सेवा पखवाड़े के अंतर्गत प्रदेशभर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों एवं हेल्थ एण्ड वेलनेस केन्द्रों पर स्वास्थ्य मेले, स्वास्थ्य सभा आदि का आयोजन किया गया। जिसके अंतर्गत चिकित्सा इकाईयों में में रक्तदान हेतु पंजीकरण व संकल्प लिया गया।

हेल्थ एण्ड वेलनेस सेंटरों में एनसी.डी. स्क्रीनिंग उच्च रक्तचाप, मधुमेह, ओरल कैन्सर, स्तन कैंसर, आयुष्मान कार्ड, आभा आईडी बनाना, योगा, टेलीमेडिसीन ओपीडी, समस्त कार्यक्रमों की जनजागरूकता आदि कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत द्वारा बताया कि आयुष्मान सेवा पखवाडे के प्रथम दिन 5 हजार से अधिक आभा नंबर दिये गये है व 11 हजार से अधिक लोगों की हाइपरटेंशन की जांच, 10 हजार लोगों की डायबीटीज की जांच, 9 हजार लोगों की टी.बी. व 1 हजार से अधिक लोगों को इ-संजीवनी के माध्यम से टेलीकंसल्टेशन की सुविधा दी जा चुकी है।

डॉ धन सिंह रावत द्वारा बताया गया कि सरकार का प्रयास है कि प्रदेश के जनमानस को सभी स्वास्थ्य सुविधा उन्हीं के गृह जनपद में दी जाए। इसके लिए सभी चिकित्सा इकाइयों को सुदृढ़ कर उच्च सुविधा व चिकित्सकों की तैनाती की जा चुकी है।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *